बांका [जेएनएन]। टेक्नोलॉजी का उपयोग सही चीज है लेकिन कुछ लोग जब इसी टेक्नोलॉजी का दुरूपयोग करने लगते हैं, तो यह कदम उनको हवालात की सैर भी करा देता है। ऐसा ही कुछ मामला सामने आया है बिहार के बांका से। यहां के कुछ लोगों ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के नाम से वाट्सएप ग्रुप बना रखा था। लेकिन इस ग्रुप में वे लोग नेताओं के उपर गलत संदेश वायरल करते थे। साथ ही समुदाय विशेष के प्रति नफरत फैलाने का काम करते थे।

पुलिस ने बुधवार को ग्रुप के एडमिन सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि कुछ लोग भारतीय प्रशासनिक सेवा के नाम से वाट्सएप ग्रुप बनाकर राज्य के मुख्य मंत्री समेत कई नेताओं के बारे में गलत संदेश भेजते थे। साथ ही समुदाय विशेष के खिलाफ भी इस ग्रुप में टिप्पंनी की गई थी। इसकी जानकारी पुलिस को हुई। एसपी राजीव रंजन के निर्देश पर पुलिस ने बाबूटोला मोहल्लेइ से ग्रुप एडमिन प्रणव प्रसून एवं मैसेज पोस्ट करने के आरोप में बैंक ऑफ इंडिया के प्राइवेट सुरक्षा गार्ड बलुआ निवासी संटू कुमार यादव को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें: cyber criminals का बड़ा खेल, सीए के पैन नंबर से 50 अरब रुपये विदेश ट्रांसफर

पुलिस के अनुसार, इस ग्रुप में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद सहित कई सारे नेताओं के खिलाफ आपत्तिजनक मैसेज भेजे गये थे। पुलिस ने दोनों आरोपियों के मोबाइल भी जब्त कर लिये हैं।

यह भी पढ़ें: बिहार में साइबर फ्रॉड का आंकड़ा नहीं, पुलिस पहुंच से दूर ये मामले

बड़ी बात यह है कि ग्रुप एडमिन प्रण्व प्रसून ने इस ग्रुप में कई प्रशासनिक अधिकारियों को भी इसमें जोड़़ रखा था। वह खुद को दिल्ली के चाण्क्या कोचिंग सेंटर का छात्र बताता था।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस