बांका। बालू उठाव के विरोध में गुरुवार को बहुरना गांव के नौजवानों एवं पपरेवा गांव के ट्रैक्टर मालिकों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई। इसमें कुछ ग्रामीण चोटिल हो गए। इसकी जानकारी देने के घंटों बीत जाने के बाद भी पुलिस के घटनास्थल पर नहीं पहुंचने पर बहुरना गांव के ग्रामीणों ने खेसर-तारापुर मुख्य सड़क लोहागढ़ नदी पुल पर सड़क जाम कर दिया। आक्रोशित लोगों ने टायर जलाकर आगजनी भी की। साथ ही पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। इसके पूर्व ग्रामीणों ने डीएम व एसपी को भी दूरभाष पर इस घटना की जानकारी दी। इधर, जाम के बाद खेसर थानाध्यक्ष श्रीकांत चौहान ने घटनास्थल पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझा-बुझाकर दो घंटे के बाद सड़क जाम हटाया। वहीं, ग्रामीणों के साथ नदी तट जाकर स्थिति की भी जायजा लिया है। थानाध्यक्ष ने कहा कि दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मौके पर पवन कुमार, पप्पू कुमार, मंटू कुमार, ऋषि देव कुमार, अभिषेक, दयानंद, सनातन ¨सह, कुणाल कुमार, सरवन कुमार, राहुल कुमार, निखिल कुमार, रोहित कुमार, राजा कुमार सहित अन्य थे।

-------

रोज हो रहा है बालू का उठाव :

खेसर थाना क्षेत्र के लोहागढ़ नदी बहुरना घाट पर दर्जनों ट्रैक्टर मालिकों द्वारा अवैध रूप से बालू का उठाव किया जा रहा हैं। इससे नदिया गहरी हो रही है। किसानों के समक्ष ¨सचाई की समस्या उत्पन्न हो सकती है। स्थानीय लोगों ने बताया कि लोहागढ़ नदी रमसरैया से लेकर बहुरना घाट तक प्रतिदिन 30 से 40 ट्रैक्टर रात दिन बालू ढुलाई हो रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस