पेज का बाटम

-------

फोटो 22बीएन 14

संवाद सहयोगी, बौंसी (बांका) : मंदार हिल रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधाओं का अभाव है। सुविधा के नाम पर स्टेशन जाने वाली मुख्य सड़क की स्थिति बदतर है। बरसात के दिनों में बाजार से रेलवे स्टेशन के मुख्य गेट के पास कई वर्षों से जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो रही है। इस समस्या का निदान रेलवे द्वारा नहीं किया जा रहा है। इस कारण रेलवे स्टेशन जाने वाले यात्रियों एवं आसपास के मुहल्ले में जाने वाले लोगों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ता है।

गांधी चौक स्थित शिवालय भी श्रद्धालु गंदे पानी एवं कीचड़ से गुजरते हुए पूजा-अर्चना करने के लिए जाते हैं। पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण मंदार हिल रेलवे स्टेशन की साफ सफाई की स्थिति भी बहुत ही दयनीय है। हर तरफ गंदगी का अंबार लगा हुआ रहता है। शौचालय की स्थिति भी बहुत ही बदतर है। यहां तक कि रेलवे के अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान भी स्टेशन परिसर की साफ सफाई नहीं होती है। शनिवार को प्रधान चीफ इंजीनियर ने निरीक्षण के दौरान स्टेशन पर फैली गंदगी को देखकर नाराजगी जताई थी। इस महत्वपूर्ण स्टेशन से हर महीने करीब 20-25 लाख रुपये की राजस्व की प्राप्ति रेलवे को होती है। फिर भी उपेक्षा का शिकार बना हुआ है। स्टेशन परिसर में रात के समय अंधेरा छाया रहता है। ऐसी स्थिति में शाम के समय एक्सप्रेस ट्रेनों से उतरे यात्रियों को मुश्किल का सामना करना पड़ता है। यात्री आलोक झा ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर दो वर्षों से पेयजल के लिए हाईटेक मशीन रखी हुई है। जिसे रेलवे द्वारा इंस्टाल नहीं किया गया है। इस कारण से यात्रियों को शुद्ध पेयजल रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध नहीं हो पाता है। इधर, स्टेशन प्रबंधक ने बताया कि स्टेशन परिसर की साफ सफाई कराई जाती है।

Edited By: Jagran