बांका। कोरोना की दूसरी लहर में काफी लोगों का रोजगार छिन गया। ऐसे में लोगों के सामने खाने की समस्या उत्पन्न हो गई। इस समस्या को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से केंद्र सरकार राशनकार्ड धारकों को मई से लेकर नवंबर तक दो किलो गेहूं और तीन किलो चावल दे रही है। सभी कार्डधारकों को इसका लाभ मिले इसके लिए जिला आपूर्ति शाखा इसकी सतत निगरानी कर रहा है। इस योजना से तीन लाख 46 हजार 261 लोगों लाभ मिल रहा है। एक हजार 91 जन वितरण प्रणाली की दुकानों से लोगों को अरबा चावल और गेहूं मिल रहा है।

-----------

ऐसे मिलता है लाभ

इस योजना से परिवार को प्रति सदस्य पांच किलो राशन दिया जा रहा है। अगर परिवार में चार सदस्य हैं तो उस परिवार को 20 किलो चावल और गेहूं मिलेगा। इसके माध्यम से तीन लाख 46 हजार 261 लोगों को राशन दिया जा रहा है। इसमें 35 लाख 57 हजार 931 किलो गेहूं और 53 लाख 36 हजार 929 किलो चावल दिया जा रहा है।

-------------

जन वितरण दुकान पर अनाज की कटौती

योजना का सही लाभ सभी लोगों को मिले इसके लिए सरकार ने कई व्यवस्था की है। इसके बाद भी जन वितरण दुकान पर लोग घटतौली का शिकार हो रहे हैं। लोगों को कम अनाज दिया जा रहा है। इसके साथ ही मिट्टी तेल में भी लोगों को एक लीटर के बदले आठ से नौ सौ ग्राम तेल दिया जा रहा है। अरबा चावल की गुणवत्ता सही नहीं होने से अधिकांश लोग इस चावल को बाजार में बेच लेते हैं।

Edited By: Jagran