बांका [जेएनएन]। साल भर पहले बांका के पांच सरकारी विद्यालयों से शुरू हुई उन्नयन की कहानी अब अमेरिका के ड्यूक यूनिवर्सिटी में छा गई। अमेरिका में बांका-बांका गूंज रहा है। स्मार्ट क्लास के जरिए गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने की तकनीक उन्नयन के प्रणेता डीएम कुंदन कुमार ने वहां आयोजित एक समारोह में अमेरिकी विवि के छात्रों को विस्तार से इसकी जानकारी दी। उन्होंने इसकी शुरुआत के बाद बांका जिले के पिछड़े इलाकों की शिक्षा में आ रहे बदलाव की कहानी छात्रों को सुनाई। ड्यूक यूनिवर्सिटी की ओर से डीएम उन्नयन कार्यक्रम पर भाषण देने के लिए आमंत्रित किए गए थे। 

दरअसल दो महीने पूर्व ही अमेरिका के गुयाना टाउन में उन्नयन कार्यक्रम ने सिंगापुर और मलेशिया जैसे देशों को पछाड़ कर कैंपम अवार्ड जीता था। इसके बाद से ही वहां के लोगों में इस कार्यक्रम के बारे में जानने की उत्कट अभिलाषा बनी हुई है। इंटरनेशनल स्तर पर उन्नयन के अवार्ड जीतने पर अमेरिका के नार्थ कैरोलिना स्थित सबसे बड़े निजी ड्यूक यूनिवर्सिटी ने इस पर उन्न्यन पर लेक्चर देने के लिए डीएम कुंदन कुमार को आमंत्रित किया था। 

उन्नयन को मिल चुका है पीएम अवार्ड 

बांका के डीएम कुंदन कुमार को उच्च शिक्षा में छात्रों के लिए उन्नयन कार्यक्रम के उल्लेखनीय योगदान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों पीएम अवार्ड मिल चुका है। शिक्षा से जुड़े देश के चुनिंदा मॉडलों को पछाड़ उन्नयन पहले नंबर पर रहा था। इसके पहले मानव संसाधन विकास विभाग, पीएमओ स्तर की कई टीमों ने बांका पहुंच कर उन्न्यन को नजदीक से देख-परख चुके हैं। इस सफलता के बाद इसे इंटरनेशनल अवार्ड के लिए भेजा गया था। वहां भी अमेरिका में उन्न्यन कार्यक्रम विजेता बना। इस सफलता के बाद बिहार सहित देश के कई राज्यों में इस कार्यक्रम को लागू करने की बात चल रही है। विभिन्न राज्यों व बिहार सरकार के शिक्षा विभाग की टीमें लगातार बांका का दौरा कर रही हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी अपने पिछले बांका दौरे में इस कार्यक्रम को बिहार में लागू करने की घोषणा कर चुके हैं। 

क्या है उन्नयन

उन्नयन बांका के पिछड़ापन को दूर करने का एक अभियान है. इसे डीएम ने पिछले साल शुरू किया था। इस अभियान से इकोवेशन एप के माध्यम से मोबाइल को विद्यालय बना कर पढ़ाई कराई जा रही है। इसके अलावा बांका के चार दर्जन हाईस्कूलों में एलइडी स्मार्ट क्लास से बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। मैट्रिक और इंटर के बच्चों को निशुल्क कोचिंग कराई जा रही है। पढ़ाई के साथ इससे अब तक बांका के 800 युवाओं को निजी कंपनी में नौकरी भी दिलाई जा चुकी है।

मंदार मंच पर भी गूंजा

सोमवार को मंदार महोत्सव के शुभारंभ पर मंत्री रामनारायण मंडल ने कहा कि आज मंच पर हमारे डीएम साहब नहीं हैं। वे अवकाश पर नहीं हैं। बल्कि, बांका के लिए बड़ी उपलब्धि हासिल करने अमेरिका में हैं। उनसे अभी बात हुई, अमेरिका में बांका-बांका गूंज रहा है।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप