बांका। पहली बार शुक्रवार को जसीडीह से बांका तक रेल दौड़ी है। बांका-देवघर रेललाइन का ¨वडो और इंजन ट्रायल चीफ इंजीनियर वीके गुप्ता के द्वारा किया गया। यह निरीक्षण चांदन से बांका तक किया गया है। जिसमें पटरी की गुणवत्ता, दोनों ओर की सुरक्षा, रास्ते में पड़ने वाले स्टेशन पर मूलभूत सुविधा सहित अन्य जरूरी कार्यों को देखा गया। चीफ इंजीनियर ने कंस्ट्रक्शन के तहत अधूरे पड़े कार्य को अविलंब पूरा करने को निर्देश संबंधित अधिकारी को दिया है। इधर, जसीडीह से बांका तक पहली बार ट्रेन के आने पर लोगों की भीड़ जगह-जगह देखी गयी। इस निरीक्षण में चीफ इंजीनियर ने कार्य पर संतुष्टि जतायी। इसके साथ ही अब सीआरएस के बाद बांका से देवघर ट्रेन अगले साल के जनवरी से चलना लगभग तय माना जा रहा है। सीआरएस का कार्य दिसंबर माह के मध्य में लगभग तय कर लिए जाने की संभावना है।

ज्ञात हो कि बांका से देवघर रेल लाइन कार्य की आधारशिला बांका के पूर्व सांसद स्व: दिग्विजय ¨सह के द्वारा रखी गयी थी। नए साल में जब यात्री बांका से जसीडीह तक ट्रेन पर सफर करेंगे तो इस कड़ी में स्व: दादा का सपना साकार होगा। निरीक्षण कार्य में एसके मंडल, एके वर्मा, एके मिश्रा, एसके कर्ण, एके सक्सेना, राजेंद्र कुमार, हलधर कुमार, राजीव सहित चालक ब्रजेश कुमार, गार्ड बीके राउत व अन्य अधिकारी व कर्मी शामिल थे।