औरंगाबाद । औरंगाबाद-पटना पथ पर शुक्रवार देर शाम पिकअप-बाइक की टक्कर में बाइक सवार दो की मौत हो गई है। दाउदनगर थाना के कुर्बान बिगहा गांव निवासी जांच घर के संचालक सुनील कुमार एवं ओबरा थाना के अकौना गांव निवासी सियाराम ¨सह की मौत हुई है। बताया जाता है कि दोनों बाइक से अरवल से दाउदनगर आ रहे थे। सिपहां मोड़ से थोड़ा आगे दाउदनगर की ओर से तेज रफ्तार जा रही पिकअप वाहन ने रौंद डाला। सुनील ¨सह की मौत घटनास्थल पर हो गई जबकि सियाराम ¨सह की मौत इलाज के क्रम में हो गई। पिकअप चालक वाहन छोड़कर भागने में सफल रहा। दुर्घटना में दो लोगों की मौत की खबर जैसे ही आसपास के ग्रामीणों को मिली दोनों मृतकों के शुभ¨चतक घटनास्थल पर पहुंच गए। ग्रामीणों ने पर्याप्त मुआवजा देने एवं मृतकों के परिजनों को नौकरी देने की मांग को लेकर सड़क को जाम कर दिया। करीब दो घंटे से भी अधिक समय तक सड़क जाम रहा। विधायक वीरेंद्र कुमार सिन्हा, पुलिस अधीक्षक डॉ. सत्य प्रकाश, एसडीपीओ संजय कुमार, थाना अध्यक्ष अभय कुमार ¨सह, प्रखंड विकास पदाधिकारी अशोक प्रसाद, प्रखंड प्रमुख अनिल कुमार, उपप्रमुख नंद शर्मा ने घटनास्थल पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझाकर शांत कराया। आपदा प्रबंधन के तहत मृतक के परिजन को चार-चार लाख रुपये मुआवजा राशि देने की घोषणा की गई। परिजन का रोते बुरा हाल

सड़क दुर्घटना में सुनील ¨सह एवं सियाराम ¨सह के मौत की सूचना जैसे ही उनके परिजनों को मिली घटनास्थल पर पहुंच गए। परिजनों का रोते-रोते बुरा हाल था। ढाढ़स बंधाने पहुंचने वाले लोग भी अपने आप को रोने से रोक नहीं पा रहे थे। मृतक सुनील ¨सह, युवा समाजसेवी सनोज यादव के पिता थे। वे अपने पीछे पत्नी के अलावा दो पुत्र एवं एक पुत्री छोड़ गए हैं। वहां पहुंचे लोग दोनों मृतकों के मृदुल स्वभाव की चर्चा कर रहे थे। दोनों की असमय मौत से इनके परिवार पर विपत्ति का पहाड़ टूट पड़ा है। कड़ी सजा का हो प्रावधान : डा. प्रकाश चंद्रा

राजद आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ प्रकाश चंद्रा ने सड़क दुर्घटना में सुनील ¨सह एवं सियाराम ¨सह की मौत पर गहरा शोक जताते हुए कहा है कि सिपहां मोड़ के पास आए दिन अक्सर दुर्घटनाएं हो रही हैं। वाहन चालकों द्वारा तेज व अनियंत्रित गति से वाहन चलाए जा रहे हैं, जिस पर कड़ी कार्रवाई किए जाने की जरूरत है। दुर्घटना संभावित क्षेत्रों को चिन्हित कर वहां पर बोर्ड लगा रहना चाहिए। प्रशासन द्वारा सघन वाहन चे¨कग अभियान चलाया जाना चाहिए और बिना ड्राइ¨वग लाइसेंस के वाहन चलाते पकड़े जाने पर कड़ी सजा का प्रावधान होना चाहिए। उन्होंने राज्य सरकार से अनुरोध किया है कि लापरवाही की स्थिति में दुर्घटना होने पर दुर्घटना को अंजाम देने वाले चालक के खिलाफ कड़ी सजा का प्रावधान किया जाना चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस