अंबा (औरंगाबाद)। नवीनगर विद्युत प्रमंडल के अंतर्गत कुटुंबा पावर हाउस वर्षो से कुव्यस्था का प्रतीक बन चुका है। उक्त पावर हाउस हमेशा यांत्रिक गड़बड़ियों से जूझते रहता है। कभी ब्रेकर खराब होने की बात तो कभी शटडाउन होने की बात। पावर हाउस का रिसियप फीडर में 11000 केवीए का तार ढीला होने की बात पिछले पांच वर्षों से कही जा रही है। उपभोक्ता जब बिजली कटती है, तो पावर हाउस से संपर्क करते हैं तो उन्हें कहा जाता है कि तार ढीला रहने के कारण फॉल्ट हो गया है। इसका खामियाजा ग्राहकों को भुगतान पड़ता है। सप्लाई बंद हो जाती है। विभाग कई वर्षों से मेंटेनेंस की बात कह कर उक्त फीडर के तार को सुधारने की बात कहता आया है। विभागीय अधिकारी इस पर आज तक कार्य नहीं कर सके। कार्यालय नवीनगर होने से आराम फरमाते हैं अधिकारी

कुटुंबा के हरदत्ता पावर हाउस से जब कार्यालय नवीनगर ले जाया गया, तब से कुटुंबा प्रखंड की बिजली आपूर्ति बदहाल हो गई। पावर हाउस में ना कोई अधिकारी रहता है ना ही पर्याप्त संख्या में बिजली मिस्त्री। जो मिस्त्री यहां तैनात किए गए हैं वे घंटों बिजली काटकर अपनी जेब गर्म करने में लगे रहते हैं। मीटर में गड़बड़ी के कारण बेतहाशा बिल आना अब भी जारी

एक तरफ तो बिजली विभाग खराब मीटर लगा कर बेतहाशा बिजली बिल भेज रहा है जिससे उपभोक्ता बहुत परेशान हैं। महीने में जहां बिजली बिल 400 से 500 का आना चाहिए, वहां दो से ढाई हजार का बिल आ रहा है। अंबा के सभी मोहल्ले आज तक नहीं जुड़े शहरी फीडर से

बिजली विभाग कुटुंबा प्रखंड में अपने कार्य के प्रति ईमानदार नहीं दिखता। शहरी फीडर बनाकर आधे से ज्यादा उपभोक्ताओं को अभी तक बिजली कनेक्शन नहीं पहुंचाया गया है। शहर में रहने के बावजूद लोग बिजली के लिए बेहाल बने हुए हैं। अंबा में शहरी फीडर का कार्य दो वर्षों के बाद भी अधूरा पड़ा है। तार बदलने की हो रही मांग

रिसियप फीडर से जुड़े उपभोक्ता सरोज पाल, टुनटुन पाल, नरेश बैठा, सत्येंद्र सिंह, पुरुषोत्तम कुमार, कौशल कुमार, राज बलम तिवारी, विजय पांडेय, उदय पांडेय बिजली विभाग से मांग कर रहे हैं कि जल्द से जल्द झूलते तार को बदला जाए तथा पेड़ों की टहनियां काटकर निर्बाध विद्युत व्यवस्था बहाल की जाए। --------------------

तार ढीला होने तथा पेड़ों की टहनियों के कारण फाल्ट होता है। फाल्ट दूर कर तत्काल सप्लाई शुरू कराई जाती है। हालांकि यह कब तक सुधारा जाएगा, इस पर उन्होंने चुप्पी साध ली।

अभिषेक कुमार, जेई

--------------------

- 05 वर्षो में भी बिजली बोर्ड इसे नहीं करा सका दुरुस्त

- 04 से पांच घंटे तक लगातार बंद हो जाती है सप्लाई

- शिकायत कर थक चुके हैं उपभोक्ता, बोर्ड नहीं करता अमल

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021