संवाद सहयोगी, दाउदनगर (औरंगाबाद) : खनन विभाग के साथ पुलिस ने शुक्रवार को अलग-अलग कारण से तीन ट्रैक्टर को जब्त किया है। दो बालू लदे ट्रैक्टर को ओवरलोडिग के आरोप में जबकि एक ईंट लदे ट्रैक्टर को स्वामित्व भुगतान नहीं करने के कारण जब्त किया गया है। यह कार्रवाई जिला खनन पदाधिकारी पंकज कुमार एवं खान निरीक्षक आजाद आलम के नेतृत्व में की गई। जिला खनन पदाधिकारी ने बताया कि पटना रोड स्थित बीएड कालेज के पास से बालू लदे दो ट्रैक्टर को ओवरलोडिग के आरोप में जब्त किया गया है। जुर्माना लगाने की कार्रवाई की जा रही है। काजल ईंट उद्योग के ईंट लदे ट्रैक्टर को जब्त किया गया है और स्वामित्व भुगतान करने तक थाना को सुपुर्द कर दिया गया है। उनके द्वारा बताया गया कि पिछले वर्ष तक औरंगाबाद जिले में 233 ईंट भट्टा संचालित हैं, जिनका स्वामित्व जमा करने का 31 दिसंबर तक समय दिया गया था। जिन भट्टा संचालकों द्वारा स्वामित्व नहीं जमा किया जाएगा उनके ईंट भट्ठा को बंद कराने की कार्रवाई की जाएगी। बालू लोड ट्रैक्टर जब्त, चालक गिरफ्तार

संवाद सूत्र, गोह (औरंगाबाद) : देवकुंड थाना पुलिस ने गुरुवार को भिमलीचक गांव के पास से अवैध बालू लदे ट्रैक्टर जब्त किया गया है। पुलिस ने चालक को भी गिरफ्तार किया है। जब्त बालू लदे ट्रैक्टर के चालक को पुलिस खोज रही है। प्रभारी थानाध्यक्ष संतोष कुमार तिवारी ने बताया कि खनन पदाधिकारी आजाद आलम के बयान पर ट्रैक्टर मालिक एवं चालक पर प्राथमिकी दर्ज किया है। ट्रैक्टर मालिक एवं शिवनगर निवासी चालक महेंद्र चौधरी को आरोपित किया गया है। गिरफ्तार चालक को शुक्रवार को जेल भेज दिया गया है। खनन पदाधिकारी ने बताया कि अवैध खनन को लेकर नियमित छापेमारी की जाएगी। मौका पाते ही छापेमारी टीम पर हमला कर देते हैं खनन तस्कर जागरण संवाददाता, औरंगाबाद : जिले में बालू घाटों पर अवैध खनन के खिलाफ छापेमारी करने पहुंची पुलिस पर हमला की कई घटनाएं हो चुकी है। अवैध खनन के धंधे में लगे धंधेबाज मौका पाते ही छापेमारी टीम पर हमला कर देते हैं। फायरिग एवं पथराव करते हैं। दाउदनगर में 27 फरवरी को पुलिस की छापेमारी टीम पर हमला कर हत्या मामले में गिरफ्तार दो आरोपितों को छुड़ाकर फरार हो जाने की घटना के पहले भी कई जगहों पर पुलिस की छापेमारी टीम पर हमला की घटना हो चुकी है। कई घटनाओं में पुलिस घायल हुए हैं। दाउदनगर थाना क्षेत्र के केरा बालू घाट पर नौ जून 2021 को अवैध खनन के धंधे में लगे धंधेबाजों के द्वारा छापेमारी करने पहुंची पुलिस पर पथराव व फायरिग की गई थी। बालू लदा ट्रैक्टर पुलिस से छुड़ाकर ले भागे थे। 28 अक्टूबर 2021 को इसी थाना क्षेत्र के भगवान बिगहा बालू घाट पर छापेमारी करने पहुंची पुलिस पर अवैध खनन में लगे धंधेबाजों के द्वारा हमला किया गया था। दो सितंबर 2021 को अवैध खनन के धंधेबाजों ने बारुण थाना क्षेत्र में छापेमारी के दौरान टीम पर हमला किया था। सात सितंबर 2021 को बारुण के कोचाढ़ बालू घाट पर छापामारी करने पहुंची छापेमारी टीम पर हमला व पथराव कर दी गई थी। दो जून 2021 को हसपुरा थाना क्षेत्र के कोइलवां एवं चनहट गांव के बीच बालू को लेकर दो गुटों में फायरिग की घटना हुई थी। इन घटनाओं के अलावा अन्य थाना क्षेत्रों के बालू घाटों पर पुलिस पर हमला से लेकर फायरिग तक की घटनाएं हो चुकी है। बताया जाता है कि जिले में बालू का अवैध खनन को रोकना अब जिला व पुलिस प्रशासन के लिए नामुमकीन है। बालू का धंधा जिले के सभी नदियों के किनारे के गांवों के नौजवानों द्वारा किया जा रहा। सोन अवैध खनन के लिए पूरे राज्य में बदनाम हो चुकी है।

Edited By: Jagran