औरंगाबाद। कुटुंबा में दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक शाखा की ओर से विशेष वित्तीय साक्षरता अभियान सह डिजिटल वित्तीय साक्षरता अभियान के अंतर्गत कार्यक्रम आयोजित किया गया। नाबार्ड द्वारा प्रबंधित वित्तीय समावेशन फंड के अंतर्गत पटना की नाट्य संस्था'प्रयास'के द्वारा नुक्कड़ नाटक दिखाया गया। कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक एवं लोक गीत के माध्यम से बैंक के कार्य प्रणाली की जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि बैंक में जीरो बैलेंस पर सीमित कागजात के जरिये खाता खोला जाता है। बताया कि बैंक ग्राहकों को हर सुविधा देने के लिए प्रतिबद्ध है। एटीएम से संबंधित सभी प्रकार का ब्योरा गोपनीय रखना लाभदायक होता है। हम अन्य व्यक्ति से एटीएम का पिन कोड तथा उसका नंबर यदि साझा करते हैं तो फर्जी निकासी का शिकार हो सकते हैं। बताया कि एटीएम से संबंधित लेन देन के बारे में गोपनीयता बरतना जरूरी है। नागरिकों से कहा कि बैंक किसी भी स्थिति में एटीएम से जुड़े विवरण की मांग मोबाइल से नहीं करता है। जीवन ज्योति बीमा और सुरक्षा बीमा योजना अटल पेंशन योजना एफडीआरडी सहित के बारे में जानकारी दी। कुटुंबा के शाखा प्रबंधक विजय कुमार, एफएलसी सुनील कुमार शर्मा, नाट्य संस्था'प्रयास'के कलाकार ओमप्रकाश लाल, निशांत कुमार तिवारी, अमरजीत कुमार सिंह,रोशन कुमार, सिद्धेश्वर सिंह, बैंक कर्मी रवि कुमार, पंचायत समिति सदस्य चुनमुन कुमार सिंह, प्रधानाध्यापक चंद्रशेखर प्रसाद साहू, शिक्षिका रूबी कुमारी, किरण कुमारी, अभिभावक सुदेश्वर तिवारी, संगीता देवी, रिकू देवी, युगेश्वर सिंह एवं स्कूली छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप