औरंगाबाद, जेएनएन। औरंगाबाद के नरारीकला खुर्द थाना के महदी गांव में दहेजलोभियों ने 26 वर्षीया रिंकी देवी और उनके दुधमुंहे बच्‍चे की हत्‍या कर दी। साक्ष्य मिटाने की नीयत से शव को जलाने का दुस्साहस किया गया। गुरुवार सुबह घर से अधजला शव बरामद कर पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया। 

रिंकी के भाई सुजीत कुमार ने हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी में रिंकी के पति श्रवण यादव, देवर मंटू यादव और सास को नामजद बनाया गया है। थानाध्यक्ष रामराज सिंह ने बताया कि आरोपित घर छोड़ कर फरार हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।

सुजीत झारखंड में पलामू जिलान्तर्गत हुसैनाबाद थाना क्षेत्र में लोटनियां गांव के निवासी हैं। उन्होंने बताया कि रिंकी की शादी 2016 में हुई थी। ससुराल वाले दहेज में दो लाख रुपये की मांग कर रहे थे और उसके लिए मेरी बहन को वे लोग प्रताडि़त कर रहे थे। दहेज के लिए ही रिंकी और उनके नवजात पुत्र की हत्या हुई है। गांव वालों ने फोन से इसकी जानकारी दी। तब वे यहां पहुंचे और पुलिस को इसकी जानकारी दी। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस