दाउदनगर (औरंगाबाद) : श्रीराम व रामचरित मानस जयंती बुधवार को मनाई जाएगी। कोरोना संकट के बीच सन्नाटे के बीच आयोजन होगा। इस दौरान तमाम धार्मिक अनुष्ठान किए जाएंगे, लेकिन श्रद्धालु उपस्थित नहीं रहेंगे। कोविड- 19 को लेकर सभी धार्मिक स्थल आम लोगों के लिए बंद हैं। इस कारण सिर्फ पुजारी भगवान की पूजा-आरती व अन्य विशेष अनुष्ठान करेंगे।

दाउदनगर पांडेय टोली स्थित ठाकुरबाड़ी से जुड़े छोटू पांडेय ने बताया कि यह 1934 के आसपास बना था। यहां इस बार सन्नाटे के बीच भगवान का जन्म होगा। सिर्फ पुजारी रहेंगे। आचार्य लाल मोहन शास्त्री के अनुसार संयुक्त प्रांत बिहार जब था, तो जमींदारों ने ठाकुरबाड़ी का निर्माण करवाया था। ठाकुर जी के नाम से कुछ जमीनें लिखी गई, जिससे राग-भोग चलता था। इससे पुजारी व नौकरो को भोजन और मजदूरी मिलती थी। विशेष रूप से वही ठाकुरबाड़ी निर्माण करवाते थे, जो निसंतान होते थे। आज ठाकुरबाड़ी की स्थिति दयनीय है। इनके अनुसार ठाकुरबाड़ी की संपत्तियों को देख कर ही बिहार सरकार ने धार्मिक न्यास बोर्ड बनाया था। जानिए अनुमंडल के 51 ठाकुरबाड़ी को

फाटक पर कोइलवा, कोइलवा, कुटी पर कोइलवां, कुटी पर सिहाड़ी बाजार, कुटी बिहटा, हसपुरा बाजार, हसपुरा, मुख्य बाजार हसपुरा, जलपुरा हेबसपुर, सलेमपुर, डुमरा, गोह बाजार, देवी स्थान गोह, राम बाग गोह, सरेया, भुरकुंडा, तिलोती, बड़ोखर, हथियारा, देवकुंड, डंडवां, सिहाडी, पांडेय करमा, लोहड़ी, जमुआइन, दधपी, महदी पुर, मनोरा, ओबरा, गेनी अंकोरहा, गैनी-1, गैनी-2, महथू, पिसाय, अंगराही, मखरा, बाबू अमोना, लाला अमॉना, अंछा, अरई, कनाप, शुक बाजार दाऊदनगर, कसेरा टोला दाऊदनगर, पांडेय टोली दाऊदनगर, पुरानी शहर दाऊदनगर, खेरा द्वीप, देवकुंड, खेरा द्वीप, दुल्ह बिगहा, शमशेर नगर व झिगुरी। इसके अलावा अनुमंडल के विभिन्न गांवों में और भी कई ठाकुरबाड़ी हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021