औरंगाबाद। पैक्स व व्यापार मंडल अध्यक्षों की बैठक बुधवार को एक होटल में संपन्न हुई। बैठक में पैक्स अध्यक्षों ने कहा कि खरीफ विपणन मौसम 2021-22 में धान खरीद की प्रक्रिया में आने वाली समस्या को सरकार दूर करे नहीं तो खरीद नहीं की जाएगी। जिला को-आपरेटिव बैंक के चेयरमैन संतोष कुमार सिंह ने कहा कि धान की खरीद में कई समस्या होने से पैक्स अध्यक्षों को काफी परेशानी होती है। बैंक द्वारा शेयर मद में काटे गए तीन प्रतिशत राशि को पैक्सों को वापस कराई जाए। शेयर मद में काटी गई राशि वापस नहीं होने पर पैक्स एवं व्यापार मंडल धान की खरीद करने में सक्षम नहीं होंगे।

कहा कि सरकार ने धान की खरीद एक नवंबर से 31 जनवरी तक करने का पत्र निर्गत किया है जो सही नहीं है। जिले में धान की रोपनी विलंब से शुरू हुई है, इस कारण फसल दिसंबर एवं जनवरी तक काटी जाएगी। सरकार ने जो तिथि निर्धारित की है उससे अधिकांश किसान धान क्रय केंद्र पर नहीं बेंच पाएंगे। सभी पैक्स अध्यक्षों ने 31 मार्च तक धान की खरीदारी करने की मांग सहकारिता विभाग के सचिव से की है। पैक्स अध्यक्षों ने किसानों की आनलाइन प्रक्रिया फरवरी माह तक रखने की मांग की। कहा कि एसएफसी की भंडारण क्षमता कम होने के कारण धान खरीद में परेशानी होती है। भंडारण की क्षमता और सीएमआर आपूर्ति के लिए लाट की संख्या बढ़ाने की बात कही। पैक्स अध्यक्षों ने धान खरीद के लिए बोरा, परिवहन एवं हथलन की दर बढ़ाने की मांग की। कहा कि दर कम होने के कारण समितियों को आर्थिक नुकसान होता है। जिला सहकारिता पदाधिकारी श्रृनंद्र नारायण ने कहा कि धान खरीद में जो समस्या है उसे दूर करने का प्रयास किया जाएगा। अध्यक्ष महेश्वर प्रसाद सिंह, रामानुज सिंह, रणविजय सिंह, कपिल सिंह, अमरेंद्र सिंह, राजु सिंह, विनोद सिंह, उपेंद्र यादव, सत्येंद्र यादव, अनुज सिंह, राजेश सिंह, राजेंद्र गुप्ता, सुनिल सिंह, पियूष रंजन, उदय प्रताप सिंह समेत अन्य पैक्स एवं व्यापार मंडल अध्यक्ष मौजूद रहे।

Edited By: Jagran