औरंगाबाद। नवीनगर प्रखंड क्षेत्र में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों में दो माह से पोषाहार बंद है। पोषाहार बंद रहने के कारण सरकार प्रायोजित योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। सरकार के द्वारा बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को समुचित पोषाहर उपलब्ध कराने हेतु सभी राजस्व गांवों में आंगनबाड़ी केंद्र खोला गया है ताकि समय पर उन्हे पौष्टिक आहार मिल सके। प्रखंड मे दो महीनों से पोषाहार बंद है। वही जिले के सभी प्रखंडो में पोषाहार मिल रहा है। केंद्र पर आने वाले बच्चे पोषाहार नहीं मिलने से मायूस है। वहीं केंद्रों पर बच्चों की संख्या कम हो गया है। दो महीनों से पोषाहार बंद होने से अभिभावकों एव लाभार्थियों में आक्रोश है। केंद्र निरीक्षण के दौरान नाम नही छापने की शर्त पर सेविका एवं सहायिकाओं ने बताया कि सीडीपीओ की लापरवाही के कारण दो माह से पोषाहार बंद है। पैसा रहने के बावजूद भी केंद्रों पर पोषाहार की राशि नहीं दिया जा रहा है। नगर भाजपा के महामंत्री मुन्ना कुमार ¨सह ने बताया कि सीडीपीओ सीता कुजूर सदर एवं नवीनगर के प्रभार में हैं। सीडीपीओ कभी कार्यालय नहीं आती है। समस्या से उन्हें कोई मतलब नहीं है जिस कारण सेविका एवं सहायिका आंदोलन करने को बाध्य हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप