औरंगाबाद, जेएनएन। पत्नी के अवैध संबंध का विरोध करना पति को महंगा पड़ा और पत्नी ने उसे एेसी खौफनाक सजा दी, जिसे सुनकर आपकी रूह सिहर जाएगी। पत्नी ने अपने दो प्रेमियों के साथ मिलकर एेसी साजिश रची कि पुलिस भी हैरान रह गई। लेकिन, उसकी पोल खुल गई और उसने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया। 

बारुण थाना के सुखराम बिगहा (चुरा) गांव की मंजू देवी अपने मायके आयी थी। मायके में मंजू देवी ने अपने दो प्रेमियों के साथ मिलकर पति भुनेश्वर पासवान की हत्या कर दी। पुलिस ने चालाकी से की गई हत्या के इस मामले का पर्दाफाश किया है। हत्या में शामिल बारुण के चुरा गांव निवासी जयकुमार यादव एवं मृतक की पत्नी मंजू देवी को गिरफ्तार किया है।

वहीं, घटना में शामिल जम्होर थाना के मखरा गांव निवासी आजादी राम उर्फ करीवा फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। एसडीपीओ अनूप कुमार ने बताया कि गिरफ्तार मंजू ने अपने दोनों प्रेमी, जम्होर थाना के मखरा गांव निवासी ट्रैक्टर चालक करियावां एवं ट्रैक्टर मालिक जयकुमार यादव को फोन कर बुलाया था।

मंजू के दोनों प्रेमी चार अक्टूबर को बाइक से रात में उसके घर पहुंचे थे। करीवा ने भुवनेश्वर पासवान के पेट में चाकू मारा था। मंजू एवं जयकुमार, भुवनेश्वर को पकड़े हुए थे। छुरा लगने के बाद घायल भुनेश्वर शोर नहीं मचाए इसके लिए मंजू ने उसका मुंह तकिया से कुछ समय तक दबाए रखा। छुरा मारने के दोनों प्रेमी फरार हो गए।

इसके बाद शातिर मंजू ने अपने पति को किसी अज्ञात बाइक सवार के द्वारा छुरा मारकर फरार हो जाने की बात कहकर शोर मचाया। शोर मचाने के बाद पहुंचे मायके के परिजन घायल भुवनेश्वर पासवान को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल ले गए जहां से रेफर होने के बाद बेहतर इलाज के लिए नारायणा मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

मामले में मंजू ने अज्ञात दो लोगों के खिलाफ आठ अक्टूबर को प्राथमिकी दर्ज कराई थी। एसडीपीओ ने बताया कि मामले की अनुसंधान वैज्ञानिक तरीके से की गई और घटना के दिन की मंजू के मोबाइल का सीडीआर निकाला गया तो करीवा एवं जयकुमार से लंबी बात होने की बात पता चली।

जब मंजू से पूछताछ की गई तब हत्या का राज खुला। उसके अवैध संबंध के कारण पति से उसका झगड़ा होता रहता था। मंजू ने फिर पति की हत्या का प्लान बनाया और दोनों प्रेमियों को बुलाकर उसकी हत्या करवा दी। गिरफ्तार करीवा जयकुमार के ट्रैक्टर का चालक है और मंजू के साथ पहले इसका संबंध था। बाद में जयकुमार को भी मंजू से प्यार हो गया और उसके साथ भी मंजू के संबंध बने।

एसडीपीओ ने बताया कि जयकुमार ने हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। गिरफ्तार जयकुमार को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। बताया जाता है कि मंजू का ससुराल ओबरा थाना के भटौलिया गांव में है। चार अक्टूबर को वह अपने पति और दो पुत्र व एक पुत्री के साथ मायके गई थी जहां रात्रि में दोनों प्रेमिका को बुलाकर पति की हत्या करा दी।

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस