औरंगाबाद। सूबे के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने दाउदनगर में रविवार को कहा कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था कोमा में चली गई है। शिक्षा की स्थिति बदतर है। कॉलेजों में पढ़ाई नहीं होती है। स्कूल का हाल बेहाल है। युवाओं से एकजुट होने का आह्वान किया। राजद आपदा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डा. प्रकाश चंद्रा के शैक्षणिक संस्थान में कहा कि जब तक सभी वर्ग के युवा एकजुट नहीं होंगे उन्हें उनका अधिकार नहीं मिलेगा। कहा कि बिहार के युवा पूरे देश में हैं। युवाओं के उत्थान के लिए युवा आयोग का गठन होना चाहिए। स्वास्थ्य सेवा बदतर स्थिति में है। भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच गई है और इन सब के जिम्मेदार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं। उन्होंने कहा कि धान घोटाला, शौचालय घोटाला समेत कई घोटालों का पर्दाफाश हो रहा है, जिसकी सीबीआई जांच कराई जानी चाहिए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पलटू राम बताते हुए कहा कि हम लोग सरकार में थे तो दिन रात काम कर रहे थे। आखिर कौन सी परिस्थिति आ गई थी कि नीतीश ने अचानक पलटी मार दिया। इससे पहले औरंगाबाद के बार्डर पर डा. प्रकाशचंद्रा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। जिला परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष संजय ¨सह सोम, ¨चटू मिश्रा, सनोज यादव, पूर्व मुखिया राधेश्याम ¨सह, मनीष यादव, मनीष गुप्ता उपस्थित रहे।

इससे पहले राजद पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव अर¨वद कुमार यादव के नेतृत्व में अकबरपुर में स्वागत किया गया। भखरुआं मोड़ के पास पहुंचते ही हजारों की संख्या में स्वागत के लिए खड़े युवा राजद कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया। युवा राजद के प्रदेश सचिव अरुण कुमार यादव, व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुजीत कुमार उर्फ चुन्नू, समाजवादी नेता मोहन ¨सह, संजीत कुमार, सुजीत कुमार, राजद नगर अध्यक्ष मुन्ना अजीज, छात्र राजद नेता नवलेश यादव, मंजीत कुमार स्वागत समारोह में उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस