औरंगाबाद। दाउदनगर में पुराना अनुमंडल कार्यालय और डायट तरार के भवनों में पंचायत चुनाव में इस्तेमाल किए गये मतपत्रों की गिनती होगी। गुरुवार को सुबह 08 बजे यह प्रारंभ होगी। रोजाना शाम 06 बजे तक मतगणना होगा। प्रशासन का जोर अनावश्यक भीड़ और सुरक्षा व्यवस्था पर अधिक है।

मंगलवार को इस भवन में एसडीओ राकेश कुमार, डीसीएलआर मनोज कुमार एवं कोषागार पदाधिकारी रवीशचंद्र कुमार ने तैयारी का जायजा लिया। हर पहलू पर गंभीरता से विचार किया और संबंधित एजेंसी या व्यक्ति को आवश्यक निर्देश दिया। एसडीओ ने बताया कि एसएच-7 दाउदनगर-गया रोड में बाजार समिति और बुधन बिगहा के पास एक-एक ड्राप गेट बनाया जा रहा है। प्रत्याशी या अभिकर्ता पैदल ही यहा से मतगणना कक्ष तक पहुंचेंगे। यदि इनका वाहन देखा जाता है तो उसे जब्त कर लिया जायेगा। कहा कि आम जनता के लिए कोई समस्या नहीं आयेगी। इसका ध्यान रखा गया है। इलाके में धारा 144 लागू है। आम आदमी अपनी यात्रा करते रहें रुके नहीं। डायट तरार भवन में ओबरा एवं गोह प्रखंड के पंचायतों का मतपत्र गिना जाना है जबकि पुराने अनुमंडल कार्यालय के दो कमरों में दाउदनगर एवं हसपुरा की मतगणना होगी। इन कमरों तक पहुंचने के लिए प्रवेश द्वार पर मेटल डिटेक्टर लगेंगे। महिला और पुरुष कर्मी जाच के लिए तैनात रहेंगे। एसडीओ ने बताया कि सुरक्षा का पूरा इंतजाम किया गया है। पर्याप्त मात्रा में पारा मिलिट्री फोर्स उपलब्ध होगी। हर व्यक्ति के लिए इंट्री पास आवश्यक होगा और वह तय समय के लिए ही मान्य होगा।

11 से 14 टेबल की व्यवस्था : हर प्रखंड के लिए मतगणना हेतु अलग अलग संख्या में टेबल की व्यवस्था की गयी है। एसडीओ राकेश कुमार ने बताया कि ओबरा एवं गोह के मतगणना कक्ष में 14-14 टेबल की व्यवस्था है जबकि दाउदनगर के लिए 11 और हसपुरा के लिए 12 टेबल की व्यवस्था की गयी है।

संभावित समय सारणी होगी जारी : अनावश्यक भीड़ रोकने के लिए अनुमंडल प्रशासन इस बार नयी व्यवस्था करने जा रही है। एसडीओ राकेश कुमार ने बताया कि किस पंचायत के मतपत्रों की गिनती कब होगी इसकी एक संभावित समय सारिणी जारी की जाएगी। इससे अनावश्यक भीड़ नहीं हो सकेगी। इससे किस पंचायत की बारी कब आयेगी, इसका एक संभावित समय जानने से दूसरे-तीसरे पंचायत से संबद्ध प्रत्याशी, अभिकर्ता या अन्य व्यक्ति पहले से ही जमा नहीं हो सकेंगे।

दो दर्जन दंडाधिकारी : पंचायत चुनाव के मतपत्रों की गणना के लिए करीब दो दर्जन दंडाधिकारी भी तैनात किए जाने हैं। सूत्रों ने बताया कि हर प्वाइंट पर आवश्यक्तानुसार दंडाधिकारी तैनात किए जाने हैं।