औरंगाबाद। जिले के 66 आंगनबाड़ी केंद्र को मॉडल केंद्र बनाया जाएगा। विशेष केंद्रीय सहायता एससीए योजना के तहत हर प्रखंड में पांच एवं आइसीडीएस के तहत हर प्रखंड में एक केंद्र को मॉडल केंद्र बनाने की योजना बनाई गई है। योजना पर तेजी से कार्य चल रहा है। डीएम राहुल रंजन महिवाल के द्वारा मॉडल केंद्र बनाने की सहमति दी गई है। जिला प्रोग्राम कार्यालय से मॉडल बनाने वाले केंद्रों की सूची मांगी गई है। जिस केंद्र का अपना भवन है उसी को मॉडल बनाया जाएगा। मॉडल आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को सभी सुविधा उपलब्ध होगी। भवन का दीवार पर बेहतर पें¨टग किया जाएगा। रसोइघर को बेहतर बनाया जाएगा। प्रकाश एवं शुद्ध पेयजल की व्यवस्था होगी। केंद्र पर आरओ लगाया जाएगा। मॉडल केंद्र पर बच्चों को खेलने की बेहतर सुविधा मिलेगी। शौचालय का निर्माण कराया जाएगा। स्टोर घर एवं बुक कॉर्नर का निर्माण कराया जाएगा। 29 आंगनबाड़ी केंद्र का बनेगा भवन

भवन विहीन आंगनबाड़ी केंद्रों का भवन बनाने की दिशा में कार्रवाई शुरु कर दी गई है। एससीए योजना के तहत जिले के 29 आंगनबाड़ी केंद्रों का भवन बनाने आदेश डीएम ने दिया है। मदनपुर के बनिया, दधपी, पूर्वी पिपरौरा, मदनपुर भुइयां टोला, खुंटीडीह, बरछी बिगहा, चिलमी, बंगरे, बारुण के पेटारी, तमोली, सतुआही, हसपुरा के ¨डडिर पूर्वी, खुटहन पूर्वी, बघोई वन, इटवां, पहरपुरा, पीरु टोले शंकरपुर, बड़ौखर, बेला बिगहा, बाघाकोल, ¨सहाड़ी, निरपुर, देव के कंचनपुर, महुआदोहर, अजब बिगहा, देव, नारायणपुर, गोदामपर, दशवंत बिगहा, आनंदीबाग एवं नगहारा आंगनबाड़ी केंद्र का भवन बनाया जाएगा। आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन निर्माण के लिए जिला योजना कार्यालय से दो करोड़ 89 लाख 85 हजार की स्वीकृति दी गई है। दो करोड़ 17 लाख 38 हजार राशि कार्यकारी एजेंसी एलएइओ को विमुक्त कर दिया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप