औरंगाबाद । प्रखंड के इंटर विद्यालय चंदा की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। विद्यालय में छात्रों की संख्या बढ़ रही है परंतु शिक्षक घटते जा रहे हैं। विद्यालय में छात्रों की संख्या 300 है, परंतु शिक्षक नहीं हैं। बगैर शिक्षक के छात्र शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। विद्यालय का इतिहास गौरवान्वित करने वाला है परंतु वर्तमान अंधकारमय है। शिक्षकों के न रहने से छात्र विद्यालय नहीं आते हैं। नामांकन करा घर में सो जाते हैं। इंटर का भवन बनकर तैयार है परंतु शिक्षकों के न रहने से शिक्षा प्रभावित हो रही है। बताया जाता है कि इंटर में राजनीति शास्त्र के पद पर एक मात्र शिक्षक रामानंद प्रसाद आए परंतु वह भी बीएड का प्रशिक्षण लेने दो वर्षो के लिए अध्ययन अवकाश पर चले गए हैं। प्रभारी प्रधानाध्यापक प्रियरंजन कुमार कश्यप ने बताया कि इंटर विद्यालय में एक ही शिक्षक थे वह भी 9 नवंबर 2015 से नहीं आ रहे हैं। वे 1 सितंबर 2017 तक छुट्टी पर रहेंगे। शिक्षकों के न रहने से शिक्षा कार्य प्रभावित होने की बात स्वीकार की है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप