अरवल। सोन नदी में इंद्रपूरी बराज से 2.87 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के कारण जल स्तर में अचानक वृद्धि हो गई है। हालांकि नदी व तटबंध की स्थिति सामान्य बनी हुई है। फिलहाल कहीं खतरे की स्थिति नजर नहीं आ रही है। संभावित बाढ़ की आशंका को देखते हुए मुखिया संघ के जिलाध्यक्ष अभिषेक रंजन ने बढ़ते जल स्तर का निरीक्षण किया । उन्होंने कहा कि हालांकि अभी किसी प्रकार की खतरे की आशंका नहीं है लेकिन यदि और पानी छोड़ा जाता है तो तटवर्ती इलाके में रह रहे लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।उन्होंने तटवर्ती गांवों का भी भ्रमण किया और ग्रामीणों को अलर्ट रहने को कहा। उन्होंने कहा कि मेरे स्तर से जिला प्रशासन से आग्रह किया जाएगा कि संभावित स्थिति को देखते हुए अभी से ही हर मुकम्मल व्यवस्था पूरी कर ली जाए। हालांकि प्रशासन के द्वारा पहले से ही तटवर्ती इलाके में रह रहे लोगों को सचेत कर दिया गया है। जिला प्रशासन ने इसे लेकर सभी आवश्यक तैयारी कर लिया है।

Posted By: Jagran