अरवल। सदर प्रखंड के नगर भवन में आपदा प्रबंधन के तत्वाधान में भूकंपरोधी भवन निर्माण के लिए प्रशिक्षण का आयोजन किया गया जो सात दिवसीय होगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन प्रखंड प्रमुख कुंती देवी ने दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि सभी राज मिस्त्री भूकंपरोधी मकान बनाने के लिए प्रशिक्षण के दौरान दिए गए तकनीक की बारीकियों को गंभीरता पूर्वक समझे। प्रशिक्षण के दौरान बताए गए तकनीक के आधार पर ही भूकंप रोधी मकान का निर्माण करने के लिए निर्माण कर्ताओं को भूकंप रोधी मकान बनवाने के लिए प्रेरित करें ।ताकि भूकंप आने पर भी मकान सही रहे । इस प्रशिक्षण में पटना से आए मुख्य प्रशिक्षक आपदा प्रबंधन विभाग के विपिन कुमार इंजीनियर प्रशिक्षक सपना कुमारी ने कहा कि प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य है कि राजमिस्त्री कैसे भूकंपरोधी मकान बना रहें है ।ताकि भूकंप आने पर भी मकान टिकाऊ रहे । उन्होंने कहा कि अरवल भूकंप जोन तीन में आता है। वैसे में जो भी मकान बने वह पुरी तरह भूकंपरोधी हो।

आपदा प्रबंधन का मुख्य उद्देश्य है कि सभी राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षित कर दिया जाए। ताकि जो भी भवन निर्माण हो भूकंपरोधी बने ताकि भूकंप आने पर भी मकान को नुकसान नहीं पहुंचे। और इस तकनीक से मकान बनाने से जान माल की भी क्षति को बचाया जा सकता है । जब भवन का निर्माण सही होगा तो वह भवन ज्यादा से ज्यादा टिकाऊ होगा । लोगों को आपदा से बचाव होगा।

इंजीनियर ट्रेनर सपना कुमारी ने बतायी की प्रखड के तीस लोग प्रशिक्षण ले रहे है । प्रशिक्षण के दौरान सभी प्रशिक्षणार्थियों को सात सौ रू प्रशिक्षण भत्ता तथा आने जाने के लिए सौ रूपया तथा दिन का खाना दिया जायेगा ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस