अररिया। बैरगाछी ओपी क्षेत्र के रामपुर-बुधेश्वरी गांव में हुई बम धमाके की चर्चा जोरों पर है। घटना के बाद अचंभित लोग तरह तरह के कयास लगा रहे हैं। दबे जुबान से कुछ लोगों ने बम बनाकर सप्लाई देने की बात को सामने ला रही है कुछ लोग बड़ी आपराधिक घटना की साजिश बात करते हैं। वही बम ब्लास्ट में घायल बुधेश्वरी निवासी अफरोज ने बताया कि उनकी दो शादी है। दूसरी शादी वर्ष 2008 में गांव के ही तरन्नुम से हुई। शादी के कुछ दिन बाद से ही पति पत्नी में अनबन शुरू हो गया। अफरोज के अनुसार उनकी दूसरी पत्नी तरन्नुम को गांव के ही एक युवक से नजायज संबंध है। इसी बात से उनकी से नहीं बनती है। बताया कि वे दिल्ली के निजामुद्दीन के रहकर परिवार का भरण पोषण करता है। इसी बीच दिल्ली में ही गांव के एक युवक पर पत्नी का नजायज संबंध के कारण दुश्मनी होने की बात कही। इसी मामले को लेकर गांव के एक युवक से उनकी दुश्मनी चलता है। बताया कि गुरुवार शाम को रामपुर चौक पर किसी युवक से अफरोज की झंझट हुई और उसे मारने की ठान ली। सूत्रों की मानें तो अफरोज नशे की हालत में था। इस क्रम में घर से करीब 200 मीटर पूरब पिछवाड़े में निर्माणाधीन एक मकान के छड़ से अफरोज टकरा गया और दाएं हाथ में बम ब्लास्ट हो गया। जोरदार धमाके से आसपास क्षेत्र के लोग सहमे हैं। साथ ही लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं। फिलहाल कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा। पुलिस इस मामले को गंभीरता से लेते हुए गहन छानबीन में जुट गई है शुक्रवार को बुधेश्वरी गांव के कई जगहों पर पुलिस ने बम होने की तलाशी ली लेकिन कहीं से भी बम बरामद नहीं हुआ है। अफरोज से बयान लेने के बाद पुलिस मामले से पर्दा उठा सकेगी। इस बीच लोगों की नजर पुलिस की कार्यशैली पर टिकी है।

पूर्व में भी अफरोज जा चुका है जेल बम ब्लास्ट में जख्मी अफरोज मारपीट के एक मामले में जेल भुगत चुका है। दिल्ली में उनके भाई से पूर्व में उनकी विवाद हुई थी जिसमें अफरोज को तिहाड़ जेल की हवा खानी पड़ी थी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप