जागरण संवाददाता, सुपौल: सदर अस्पताल में मरीजों को अब सीटी स्कैन के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा और न ही इस जांच के लिए अधिक पैसे व्यय करने होंगे। सीटी स्कैन की सुविधा अब सदर अस्पताल में ही मिलने लगी है। गुरुवार को जिलाधिकारी द्वारा सीटी स्कैन का उद्घाटन किया गया। उद्घाटन के पश्चात जिलाधिकारी महेन्द्र कुमार ने सीटी स्कैन के बाबत आवश्यक जानकारी हासिल की। इस मौके पर जिलाधिकारी ने कहा कि सीटी स्कैन की सुविधा नहीं थी। जब भी इमरजेंसी के किसी मरीज को सीटी स्कैन की जरूरत पड़ती थी तो इस जांच के लिए बाहर जाना पड़ता था अथवा रेफर करना पड़ता था। अब आउट सोर्सिंग के माध्यम से सीटी स्कैन की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है जो आज से काम करने लगेगी। इससे पहले डिजिटल एक्स-रे एवं अल्ट्रासाउंड की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। सीटी स्कैन की सुविधा काफी मददगार साबित होगी। वैसे लोग जो इसके लिए सक्षम नहीं थे और निजी अस्पतालों में जो खर्च पड़ता तो उससे बच पाएंगे। यह सदर अस्पताल के साथ-साथ सुपौल के लोगों के लिए अच्छी बात है। कहा कि आइसीयू में सारी तैयारी पूरी है। एक स्पेशलिस्ट एनेस्थेसिस्ट के लिए रिक्वेस्ट भेजे हैं। हमें लगता है कि अभी बहाली हो रही है और दो बार वीसी में भी मामले उठाए गए हैं। बहुत जल्द एनेस्थेसिस्ट उपलब्ध हो जाएंगे और आइसीयू काम करना शुरु कर देगा। मालूम हो कि उक्त सीटी स्कैन राज्य स्वास्थ्य समिति एवं एडनेक्स हेल्थ केयर के द्वारा लोक निजी साझेदारी पहल यानि पीपीपी मोड के तहत काम करेगी। सदर अस्पताल में सीटी स्कैन की सुविधा मिलने से अब मरीजों को निजी एवं महंगे सेंटरों से निजात मिलेगी।

Edited By: Jagran