संवाद सूत्र, फारबिसगंज (अररिया): फारबिसगंज प्रखंड के मझुआ गांव में मंगलवार की सुबह एक 30 वर्षीय विवाहिता महिला की जलकर मौत होने के बाद मृतका के पिता ने ससुराल पक्ष पर अपने पुत्री की हत्या का आरोप लगाया है। मृतका बुलबुल देवी, मझुआ गांव वार्ड संख्या 10 निवासी अजय सिंह की पत्नी है। इधर घटना के बाद घर के सभी लोग फरार बताये जाते हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस जांच में जुट गई है। घटना के संदर्भ में फुलाहा बाजार सिंह टोला वार्ड संख्या 10 निवासी श्याम किशोर सिंह ने कहा कि वर्ष 2012 में उसने अपनी पुत्री बुलबुल का विवाह मझुआ गांव निवासी अजय सिंह से की थी। शादी के बाद से ही उसकी पुत्री को ससुराल पक्ष के सभी लोग मारपीट किया करते थे। इस संदर्भ में लगभग तीन माह पहले भी फारबिसगंज थाना में उसकी पुत्री के द्वारा पति समेत अन्य लोगों पर मारपीट का आरोप लगाते हुए आवेदन दिया गया था। बताया कि मंगलवार की सुबह मझुआ गांव के लोगों से ही मोबाइल पर जानकारी प्राप्त हुआ कि उसकी पुत्री की जलकर मौत हो गई है। घटनास्थल पर पहुंचने के बाद घर मे उसकी पुत्री का अधजला शव पड़ा हुआ मिला। पिता ने बताया कि मृतका को आठ वर्ष की एक बेटी है जिसका नाम शिवानी कुमारी है। बताया कि उसका दमाद आटो चालक है और सास ससुर घर के सामने ही किराना दुकान चलाते है। मौके पर विवाहिता के मायका पक्ष से पहुंचे पिता के अलावे चाचा प्रदीप सिंह, हरेराम सिंह, हीरा सिंह, भाई सुजीत सिंह, नीरज सिंह, गगन सिंह, छोटू कुमार सिंह, राजू सिंह आदि ने आरोप लगाते हुए कहा कि पहले उसकी पुत्री की हत्या की गई है। उसके बाद शव को जलाकर हत्या को अलग रंग रूप देने का प्रयास किया गया है। इधर घटना को लेकर स्थानीय ग्रामीणों में कई तरह की बातें कही जा रही है। बताया जा रहा है कि महिला की हुई जलकर मौत में पति भी गंभीर रूप से घायल है। जिसे इलाज के लिए भागलपुर अस्पताल ले जाने की बात कही जा रही है। घटना को लेकर जितनी मुंह उतनी बातें कही जा रही है। समाचार प्रेषण तक स्थानीय लोगों के द्वारा सुलह कराये जाने की कोशिश की जा रही थी। इधर घटनास्थल पर पहुंचे दरोगा नरेंद्र सिंह ने शव को कब्जे में लेते हुए स्वजनो फर्द बयान पर आगे की कार्रवाई किए जाने की बात कही है। कोट

--------------

घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल पर स्थानीय थाना से दारोगा नरेंद्र सिंह व पुलिस बल को भेजा गया है। अब तक मृतका के किसी भी स्वजन के द्वारा घटना को लेकर आवेदन नहीं दिया गया है। आवेदन मिलने के बाद विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। -निर्मल कुमार यादवेन्दु

थानाध्यक्ष, फारबिसगंज

Edited By: Jagran