अररिया। प्रखंड मुख्यालय से डहुआबाड़ी जाने वाली सड़क पर पुल का निर्माण हुए दो वर्ष हो चुका है। अबतक एप्रोच पथ का निर्माण नहीं किया गया है। डहुआबाड़ी, तीरा, शिशुकुओल समेत सिकटी प्रखंड के आधा दर्जन गांव को जोड़ने वाली सड़क पर आवागम बाधित हो गया है।ग्रामीणों ने पुल के समीप खड़ा होकर गुरुवार को विरोध जताया। ग्रामीणों का कहना है कि कुर्साकांटा हटिया समेत प्रखंड कार्यालय, पीएचसी, बैंक आने वाले ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। परेशान ग्रामीणों ने बताया कि वर्षो पूर्व निर्मित पुल का एप्रोच पथ का निर्माण संवेदक द्वारा नहीं बनाया गया। बरसात के मौसम में ग्रामीणों को काफी परेशानी हुई। अब इस वरसात के मौसम में संवेदक द्वारा बिना डायवर्जन का निर्माण किए ही पुल के एक किनारे को मंगलवार की रात काट दिया गया। जिससे बुधवार से आवागमन बाधित हो गया। उन्होंने बताया कि सबसे अधिक परेशानी हरी सब्जी समेत अन्य सामानों की कुर्साकांटा हटिया में बेचकर भोजन की व्यवस्था करने वालों को हो रही है। डहुआबाड़ी के बड़ी आबादी का मुख्य रोजगार सब्जी बिक्री करना ही है। मुखिया प्रतिनिधि मो मुश्ताक अली ने बताया कि पूर्व में दर्जनों बार संवेदक को जानकारी दी गयी और लोगों की समस्या से अवगत कराया गया। हर बार संवेदक द्वारा आश्वासन मिला लेकिन एप्रोच पथ का निर्माण नहीं किया जा सका। मुखिया प्रतिनिधि ने बताया कि संवेदक द्वारा मूसलाधार बारिश के बीच सड़क को काट देने से ग्रामीणों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने जिला पदाधिकारी अररिया से एप्रोच पथ निर्माण कराये जाने का अनुरोध किया है। संवेदक द्वारा एप्रोच पथ का निर्माण अविलंब शुरू किया जा सके। ग्रामीणों में रंजीत यादव, मो असफाक, मो करीम, मो मुसफाक, मो खुर्शीद, अरुण झा, रंजीत झा, मुकुंद मंडल, मो अब्दुल कादिर जिलानी, मो बेचन समेत अनेकों ग्रामीणों ने इस समस्या से निजात दिलाने की मांग की है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस