अररिया। फारबिसगंज के अस्पताल रोड स्थित मालती भवन में शुक्रवार को किसान आंदोलन के जनक दंडी स्वामी सहजानंद सरस्वती का जयंती समारोह भूमिहार एकता मंच के द्वारा मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता निगम सिंह ने की। जबकि संचालन संजय शर्मा कर रहे थे। मौके पर बड़ी संख्या में वक्ताओं ने दंडी स्वामी महाराज के जीवन पर प्रकाश डाला। रिटायर्ड सीएस डा. हरि किशोर सिंह ने कहा कि स्वामी महाराज देश में किसान आंदोलन के जनक थे। उनके द्वारा ही किसान आंदोलन की शुरुआत की गई थी। उन्होंने कहा कि उनका जन्म 18 89 में शिवरात्रि के दिन ही हुआ था। हैरत की बात है कि उनकी प्रारंभिक शिक्षा मदरसा से शुरू हुई जो आगे चलकर बनारस में पूरा हुआ। वहीं भाजपा नेता प्रो. गणेश ठाकुर ने कहा कि स्वामी जी महाराज ने अपना कर्म भूमि बिहार को बनाया। बिहार से ही आंदोलन की शुरुआत की और 26 जून 1950 को उनका देहांत मुजफ्फरपुर में हुआ। डा. महेश मानव ठाकुर ने कहा कि भूमिहार एकता मंच के द्वारा निर्णय लिया गया है कि प्रत्येक वर्ष स्वामी जी महाराज की जयंती धूमधाम एवं भव्य तरीके से मनाया जाएगा। संचालन कर रहे संजय शर्मा ने कहा कि आगामी वर्ष होने वाले जयंती में सभी वर्गों को लोगों को आमंत्रित किया जाएगा। क्योंकि स्वामी जी भूमिहार वंश में जन्म लेने के बावजूद सभी वर्ग के लिए अपने जीवन में लड़ते रहे थे। इस मौके पर समारोह में मुख्य रूप से मनोज पांडेय, उमेश नारायण पांडेय, ओमप्रकाश पांडेय, नवीन ठाकुर, अनीश पांडेय, विजेंद्र पांडेय, दीपक ठाकुर, विनोद ठाकुर, संजीव ठाकुर, गजेंद्र ठाकुर, राहुल आनंद, अशोक ठाकुर, नरेश ठाकुर, रमेश ठाकुर, मुकेश सिंह, राजू सिंह सहित अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस