संसू, जोगबनी (अररिया): शनिवार को फारबिसगंज विधायक विद्यासागर केशरी उर्फ मंचन केशरी एनएचएआइ के अधिकारियों के साथ मीरगंज पंहुच पुल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने एनएचएआइ के अधिकारियों को जल्द से जल्द वैकल्पिक मार्ग को तैयार करने का निर्देश दिया। वही पत्रकारों से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा की मीरगंज पुल के क्षतिग्रस्त होने के बाद व्यापारियों को खासकर नेपाल के व्यापारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया की लगभग आधे नेपाल का व्यापारिक रिडोर इसी मीरगंज पुल से होने वाले व्यापार पर ही टिका हुआ है और जबकि यह पुल क्षतिग्रस्त हो गया है तो नेपाल सहित भारत के व्यापार पर भी इसका खासा असर पड़ा है। उन्होंने बताया की इस पुल के क्षतिग्रस्त होने के बाद वैकल्पिक मार्ग के तौर पर भीमनगर भंटाबाड़ी होकर गाड़ियों की आने जाने की अनुमति दी गई है लेकिन यह मार्ग सुरक्षा की ²ष्टिकोण से सही नहीं है। उन्होंने कहा की इस वैकल्पिक मार्ग से आने जाने वाली गाड़ियों की स्कैनिग की कोई व्यवस्था नहीं है जिस कारण कुछ प्रतिबंधित सामान भी एक देश से दूसरे देश आ जा सकता है। उन्होंने कहा की मीरगंज पुल के उत्तरी छोड़ पर बने पुल से गाड़ी आने जाने की व्यवस्था जल्द शुरू की जायेगी। इसके लिये एनएचएआइ से जल्द से जल्द कार्य को पूरा करने के लिए कहा गया है साथ ही रेलवे की बन रही पुल के पूरा ना होने की स्थिति में रुट को डायवर्ट कर सोना ईटा भट्टा के बगल से गाड़ियों के निकलने की व्यवस्था की जाएगी।उन्होंने कहा की इसके लिए वे खुद उन जमीन मालिकों के पास जाकर उनसे अनुरोध करेंगे की जबतक पुल तैयार ना हो जाए तबतक के लिये गाड़ियों को अपने जमीन से गुजरने के लिये मार्ग दे। उन्होंने व्यापारियों को आश्वासन देते हुए कहा की 15 से 30 दिनों के अंदर इस वैकल्पिक मार्ग से गाड़ियों की आवागमन बहाल हो जायेगी। इस अवसर पर मनोज झा, पूर्व मंडल अध्यक्ष राजनंदन यादव, नरेश यादव, संजय राय सहित एनएचएआइ के प्रोजेक्ट मैनेजर तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran