फारबिसगंज आसपास पेज

- फारबिसगंज विधायक विद्यासागर के सिंह ने प्रश्नकाल के दौरान सदन से कार्रवाई का किया मांग।

- विधायक ने कहा जिला के विभिन्न स्थानों पर बड़ी तादाद में बांग्लादेशी घुसपैठियों का हो रहा आगमन।

- नहरों, सड़कों, तालाबों सहित गैरजरुआ आम जमीन पर कब्जा जमा रहे हैं बांग्लादेशी घुसपैठिए।

फोटो नंबर 01 एआरआर 22

संवाद सूत्र, फारबिसगंज (अररिया): सीमावर्ती क्षेत्र अररिया जिला में बांग्लादेशी घुसपैठियों का मामला एक बार फिर से गरमाने लगा है। बांग्लादेशी घुसपैठियों को लेकर विधानसभा सदन में मामला गूंजा है। फारबिसगंज के विधायक विद्यासागर केसरी के द्वारा विधानसभा सदन में प्रश्नकाल के दौरान अररिया जिला के विभिन्न स्थानों पर बांग्लादेशी घुसपैठियों के आगमन की चर्चा करते हुए कार्रवाई की मांग की गई है। विधायक विद्यासागर केशरी की मांग को भाजपा के कई विधायकों ने भी समर्थन दिया है। विधायक केसरी ने बिहार विधानसभा में मानसून सत्र के चौथे दिन शून्य काल के दौरान अपने मांग में कहा है कि अररिया जिला सहित सीमांचल क्षेत्र में बढ़ते बांग्लादेशी घुसपैठियों के चलते नहरों, सड़कों, तालाबों सहित गैरमजरूआ आम एवं खास भूमि पर अवैध निर्माण कर कब्जा किया जा रहा है। जिससे निकट भविष्य में भारी विवाद उत्पन्न हो सकता है। अत: सदन से मांग की कि उक्त बांग्लादेशी घुसपैठियों को चिन्हित कर उनके द्वारा अवैध कब्जा किए गए जमीन को मुक्त कराए एवं उनपर उचित कार्रवाई किया जाए। दूरभाष पर जानकारी देते हुए विधायक ने कहा कि अररिया जिला के सीमावर्ती क्षेत्र में बांग्लादेशी घुसपैठिया का प्रवेश और कई अवैध भूमि पर कब्जा आने वाले समय में सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर सकती है। विधायक ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्र में लगातार घुसपैठियों का आगमन हो रहा है और घुसपैठिए नहरों के किनारे सड़कों पर तालाब सहित अन्य गैरमजरूआ आम जमीन पर कब्जा जमा रहे हैं। समय बीतने के साथ कई घुसपैठिए जरूरी व पहचान के कागजात भी बनाने में सफल हो रहे हैं। गौरतलब है कि बांग्लादेशी घुसपैठियों पर कार्रवाई की मांग अररिया से सटे किशनगंज जिले में कई सालों से अभाविप के द्वारा की जा रही है। साथ ही अररिया जिला में भी अब बांग्लादेशी घुसपैठिए का मामला उठने लगा है।

Edited By: Jagran