संसू, जोगबनी(अररिया): भारत नेपाल सीमा से सटे नेपाल के बारा व रौतहट से शनिवार को नकली नेपाली नोट के कारोबार में संलग्न पांच व्यक्ति को काठमांडू से आई नेपाल के आंतरिक सुरक्षा एजेंसी के स्पेशल टास्क फोर्स के द्वारा गिरफ्तार किया गया है। टीम ने इन लोगों के पास से 97 लाख रुपये के नेपाली जाली नोटों को भी बरामद किया गया है। पिछले दिनों लगातार सीमावर्ती क्षेत्रों से नेपाली नकली नोट की बरामदगी के बाद सुरक्षा एजेंसियों के द्वारा कारोबारी के सरगना के ऊपर निगरानी रख रही थी।इसी बीच स्पेशल टास्क फोर्स को सूचना मिली कि निजगढ़ के एक होटल में जाली नोटों की खेप के साथ सरगना ठहरे हुए हैं ।सूचना पर शनिवार को स्पेशल टास्क फोर्स निजगढ पहुच कर निगरानी कर रही थी जिसके बाद शनिवार रात को पुलिस के सहयोग से इनलोगो को बारा के निजगढ व रौतहट के चन्द्रनिगाहपुर से नेपाली नकली नोट के साथ गिरफ्तार किया गया है।

दो दिन से ठहरे थे जाली नोटों के कारोबारी।--

निजगढ के होटल तारा इन में जाली नोट के कारोबारी पिछले दो दिनों से ठहरने की बात होटल के कर्मचारियों ने सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों को पूछताछ में बताया है। वहीं गिरफ्तार सभी लोग मधेसी मूल के है।

होटल से तीन व अन्य जगहों से दो की गिऱफ्तारी।

होटल तारा इन से तीन व रौतहट के चन्द्रनिगाहपुर से दो लोगों की गिरफ्तारी की गई है होटल से गिऱफ्तार किये गए तीनो व्यक्ति के निशानदेही पर दो अन्य लोगो की गिऱफ्तारी की गई है। आधिकारिक सूत्रों की माने तो इन लोगों की निशानदेही पर एक गाय के गोहली घर से एक बोरी में भरे जाली नोटों का बंडल मिला है ।

पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग पूछताछ जारी

पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किए गए व्यक्ति से पूछताछ में कई अहम सुराग हाथ लगे है जिसके आधार पर कई अन्य जगहों पर भी टास्क फोर्स के द्वारा छापेमारी की जा रही है सबसे अहम बात यह है कि इस छापेमारी की सूचना लीक न हो इसके लिए मीडिया को ़फोटो व वीडियोग्राफी के लिए रोक लगा दिया गया है। वही गिरफ्तार व्यक्ति के द्वारा प्रयोग किये गए

बा 14 च 9832 नम्बर के स्कारपियो गाडी को भी पुलिस ने जब्त किया है। स्पेशल टास्क फोर्स के द्वारा गिरफ्तारी के बाद पांचों लोगों को होटल में ही रख कर पूछताछ करने की बात आधिकारिक सूत्रों ने कही है। वही रविवार को बारा के कलैया स्थित जिला पुलिस कार्यालय के सहयोग में रख पूछताछ की बात कही जा रही है। आधिकारिक स्त्रोत के अनुसार भारत के मुजफ्फरपुर में नेपाली एक हजार के नकली नोट की छपाई कर सीमावर्ती इलाकों में इसे खपाया जा रहा है।

नकली नोट के कारोबारी की गिरफ्तारी के संबंध में पूछे जाने पर बारा के पुलिस उपरीक्षक दिपेन्द्र शाही ने पुष्टि करते हुए कहा कि पांच लोगों को 97 लाख नकली नोट के कारोबार करते हुए काठमांडू से आई टीम ने गिरफ्तार किया है लेकिन आगे की जानकारी नही है।

स्पेशल टास्क फोर्स के द्वारा संयुक्त रूप से की गई कार्यवाही की जानकारी स्थानीय प्रशासन को नही दी गयी थी। दिनभर चले इस आपरेशन की मानिटरिग काठमांडू स्थित पुलिस प्रधान कार्यालय से की जा रही थी। वहीं होटल के संचालक ने पुलिस के द्वारा पूछताछ में बताया है गिरफ्तार लोगो में से कुछ लोग पिछले तीन वर्षों से होटल में समय समय पर रुक रहे थे यह लोग अपने आप को जमीन के कारोबारी बता कर रुक रहे थे।

अब तक भारत के सीमावर्ती क्षेत्रों में दस करोड़ से ज्यादा नकली नोट खपाने की आशंका

पुलिस सूत्रों की माने तो अब तक सीमावर्ती इलाकों में इनके द्वारा लगभग दस करोड़ से ज्यादा नकली नोट खपाया जा चुका है जबकि विराटनगर सीमा से सटे जोगबनी में सभी कारोबार नेपाली मुद्रा में होने से किस इलाके में कितना जाली नोट पहुचा है इसका अंदाजा लगाना सहज नहीं है।

Edited By: Jagran