गाड़ी तो दूर पैदल भी चलना हो गया मुश्किल

दुकानदार अपने दुकान के सामने अवैध रूप से दुकान लगवा कर वसूलते हैं पैसे

सड़क पर लगती है अवैध फुटकर दुकानें

फोटो नंबर 15 एआरआर 251

कैप्शन: सड़क पर अवैध रूप से लगाया गया दुकान

संसू., अररिया: अररिया नगर परिषद स्थित बाजार अतिक्रमण की चपेट में है। हर साल बाजारवासियों के हल्ला करने पर अतिक्रमण हटाने के नाम पर नगर परिषद द्वारा खानापूर्ति कर दी जाती है लेकिन फिर पूरे वर्ष लोग अतिक्रमण की मार झेलते हैं। सबसे अधिक जाम की समस्या चांदनी चौक से लेकर हटिया रोड पर रहती है। जहां शाम में वाहन तो दूर पैदल भी चलना मुश्किल हो जाता है हालांकि चांदनी चौक से हटिया रोड काफी चौड़ी है। लेकिन अतिक्रमण के चलते सड़क सिकुड़ती जा रही है। समाजसेवियों का कहना है कि जिनकी पक्के की स्थायी दुकानें हैं वो अपनी आधी दुकान अवैध रूप से सड़क पर बना रखा है । इतना हीं नहीं सबसे दिलचस्प बात तो यह है कि अधिकांश दुकानदार अपने दुकान के सामने सड़क पर अवैध तरीके से दुकान लगवाते हैं जिसके बदले वो अवैध दुकान का किराया भी खुले तौर पर वसूलते हैं। आधे सड़क तक सब्•ाी, फल आदि की दुकानें लगवाकर उनसे सब्•ाी, फल आदि वसूलते हैं । शेष सड़क पर ठेला वाले का साम्राज्य रहता है । प्रतिदिन अवैध दुकानदारों से लोगों विवाद होते रहता है और चौक पर तैनात पुलिस कर्मी मूकदर्शक बनी रहती है । सबसे बुरा हाल चांदनी चौक का है । ऐसे में सवाल उठता है कि ग्राहक अपनी साइकिल ,बाइक आखिर कहां लगाए । हटिया रोड का नाला जिसपर अतिक्रमणकारियों का पूरा कब्•ा है उसकी कभी सफाई भी नही हो पाती है । परिणामस्वरूप हल्के बारिश में हटिया रोड पर जल जमाव के कारण चलना मुश्किल हो जाता है । पूर्व वार्ड पार्षद कमाले हक ,जकीऊल होदा ,तनवीर आलम ,इफ्तेखार आलम ,शैलेश कुमार ,रामजी आदि ने कहा कि नगर परिषद को जनता की समस्या से कोई मतलब नही है । लोगों को सुविधा मिले न मिले उन्हें तो टैक्स चाहिए ।

--- क्या कहती है वार्ड पार्षद ---

हटिया रोड वार्ड नंबर 24 में है । जाम की समस्या बनी रहती है। इसको लेकर पूर्व में मैंने •िाला पदाधिकारी और नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को कई बार लिखित रूप में जानकारी भी दे चुकी हूं लेकिन अबतक कोई कार्रवाई नहीं हुई ।

अकबरी खातून, वार्ड पार्षद, वार्ड संख्या- 24, अररिया

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप