अररिया।

गुरुवार की सुबह नरपतगंज थानाध्यक्ष एमए हैदरी के नेतृत्व में पुलिस टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर नरपतगंज थाना क्षेत्र के अलग-अलग जगहों पर छापेमारी के दौरान एक ट्रक व एक एंबुलेंस पर 250 कार्टन अंग्रेजी शराब बरामद की। जबकि पुलिस के इस कार्रवाई के दौरान चालक सहित सात तस्कर को गिरफ्तार किया गया। वहीं पुलिस ने गिरफ्तार तस्कर के निशानदेही पर लाइनर का भूमिका निभा रहे बोलेरो को भी जब्त कर लिया। जबकि सभी चालक सहित तस्कर से थाना परिसर में पूछताछ किया जा रहा है। वहीं सूचना मिलते हीं फारबिसगंज डीएसपी गौतम कुमार ने भी नरपतगंज थाना पहुंचकर जब्त शराब की जांच पड़ताल किया। वहीं गिरफ्तार तस्कर से पूछताछ कर अहम जानकारी ली। प्राप्त जानकारी अनुसार गुप्त सूचना के आधार पर नरपतगंज थाना पुलिस ने फोरलेन एनएच 57 के राजगंज के समीप दालकोला से मुजफ्फरपुर की ओर जा रहे एंबुलेंस संख्या डीएल 9 सी ऐसी/ 9100 पर लदा 29 कार्टून अंग्रेजी शराब बरामद करते हुए चालक सहित तीन को गिरफ्तार किया। वहीं घंटो बाद नरपतगंज फोरलेन एनएच 57 के थाना चौक के समीप ट्रक संख्या एनएल 02क्यू/ 1842 पर लदा लगभग 220 कार्टून अंग्रेजी शराब के साथ जब्त किया गया। वहीं चालक को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि शराब तस्करी के दौरान आगे आगे चल रहे लाइनर का भूमिका निभा रहे बोलेरो संख्या बीआर11जी/ 0898 को भी फोरलेन एनएच 57 पर पीछा कर पकड़ लिया गया जबकि इसमें तीन व्यक्ति सवार थे। गिरफ्तार ट्रक चालक में पूर्णिया जिले के बायसी निवासी मोहम्मद महबूब आलम के अलावा एंबुलेंस में सवार मुजफ्फरपुर निवासी विशाल कुमार, मोहम्मद सुर्तुजा, मोहम्मद अफरोज आलम, गुड्डू कुमार, पूर्वी चंपारण के प्रमोद कुमार, मुजफ्फरपुर ,शिव नाथ दास मुजफ्फरपुर शामिल है। मामले को लेकर नरपतगंज थानाध्यक्ष अहमद एमए हैदरी ने बताया कि ट्रक व एंबुलेंस में लगभग 250 कार्टून अंग्रेजी शराब बरामद किया गया है। वहीं लाइनर की भूमिका निभा रहे बोलेरो को भी जब्त कर लिया गया। चालक सहित सात तस्कर को गिरफ्तार कर लिया गया जिसे प्राथमिकी दर्ज के बाद शुक्रवार को जेल भेजा जाएगा। इनसेट

एंबुलेंस से की जा रही है शराब की तस्करी संवाद सूत्र, फुलकाहा (अररिया): इन दिनों भारत नेपाल सीमावर्ती क्षेत्र में शराब तस्करों का एक बहुत बड़ा नेटवर्क काम कर रहा है। इसका जाल बंग्लादेश तक फैला हुआ है पड़ोसी राज्य बंगाल एवं उत्तर प्रदेश से लेकर पड़ोसी देश नेपाल तक इसका जाल पसरा हुआ है। इसमें हजारों लोग शामिल है, यही कारण है कि शराब तस्करी का काम थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस कड़ी से नवयुवक भी नित जुड़ते जा रहे हैं हाल हीं में शराब तस्करी के मामले में कई गिरोहों का उछ्वेदन पुलिस एवं एस एस बी के जवान ने किया है। कई लोग इस मामले में जेल भी जा चुके हैं और जमानत पर लौटे भी हैं। कितु शराब तस्करी का धंधा बदस्तूर जारी है। अधिकतर लोग फोरलेन एनएच 57 मार्ग का हीं इस्तेमाल करते हैं। नेपाली शराब मुजफ्फरपुर, सहरसा, भागलपुर तथा पटना से लेकर पूर्णिया कटिहार तक पहुंच रही है। शराब तस्कर बड़ी हीं चतुराई के साथ शराब के खेप को मंडी तक पहुंचाते हैं इसमें बड़े से लेकर छोटे पुलिसकर्मियों एवं एसएसबी कर्मियों के संलिप्तता की बात सामने आने की चर्चा है। नरपतगंज थानाध्यक्ष ने बताया कि नए साल को लेकर भी शराब माफिया शराब की बड़ी खेप को जमा कर रहा है। इसको लेकर भी वे लगातार फोरलेन पर चौकसी बढ़ा दी है। उन्होंने कहा कि 15 दिन के भीतर भारी मात्रा में अंग्रेजी शराब समेत चार चक्के वाहन एवं ट्रक को तथा गुरुवार की शाम बंगाल नंबर की एंबुलेंस को भी जब्त किये गए हैं।

फारबिसगंज डीएसपी गौतम कुमार ने बताया कि फोरलेन एनएच 57 मार्ग से शराब के बड़े खेप को ढोए जाने की उन्हें अनवरत सूचना मिल रही है इसके लिए उन्होंने पुलिस गस्ती को तेज कर दिया है कई जगहों पर पुलिस बल तैनात किए गए हैं।

Edited By: Jagran