For a faster, cleaner &
better painting experience,

Contact Our Experts Today

वास्तु शास्त्र के अनुसार आपके कमरों के लिए कौन सा रंग रहेगा सही

अपने घर के लिए जो कलर्स आप चुनते हैं वह न केवल घर को सुंदर बनाते हैं बल्कि इसका हमारे मूड पर भी असर पड़ता है।

अपने घर के लिए जो कलर्स आप चुनते हैं वह न केवल घर को सुंदर बनाते हैं, बल्कि इसका हमारे मूड पर भी असर पड़ता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर की दीवारों पर लगाए जाने वाले ये रंग पोजिटिव एनर्जी के साथ-साथ दिमाग और शरीर को बैलेंस करने में अहम भूमिका अदा करते हैं। आइए जानते हैं कि घर के अलग-अलग हिस्से के लिए कौन सा रंग सही रहेगा।

बैठने वाला कमरा (Living Room)

घर में जब भी हम प्रवेश करते हैं, तो सबसे पहले हमारा लिविंग रूम से परिचय होता है। इस जगह के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला कलर कुछ ऐसा हो, जो एनर्जी का एहसास दे। लीविंग रूम के लिए सबसे अच्छे कलर्स में आप नीले, हरे और पीले रंग को उपयोग कर सकते हैं। वैसे वास्तु के अनुसार लिविंग रूम के कुछ हिस्से में आप लाल रंग का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह उर्जा का एहसास देता है।

खाने के लिए कमरा (Dining Rooms)

डाइनिंग रूम के लिए रंग ऐसा होना चाहिए, जो स्वास्थ्य, समृद्धि और खुशी के साथ-साथ शांत माहौल को दर्शाता हो, ताकि इससे दिमाग और शरीर को आराम मिल सके। इसके लिए आप हरे, पीले और नीले रंगों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सोने के लिए कमरा (Bedrooms)

एक व्यक्ति अपना ज्यादा से ज्यादा समय बेडरूम में बिताता है, इसलिए रंगों के मामले में इस जगह पर पूरा ध्यान देना चाहिए। आपको यहां गुलाबी, नीला, हरा, ग्रे और बैगनी जैसे हल्के रंगों का इस्तेमाल करना चाहिए। ये रंग प्यार और खुशी के बारे में बताते हैं, साथ ही यह शांति, सुकून व नींद को भी बढ़ावा देते हैं।

बच्चे के लिए कमरा (Children’s Rooms)

बच्चों को देखकर चेहरे पर खुशी का एहसास होता है, इसलिए उनके रूम का कलर ऐसा होना चाहिए जो खुशी दे। इसके लिए आप नारंगी, गुलाबी, नीला, हरा और लैवेंडर कलर्स में ब्राइट और वाइब्रेट रंग लगाएं। इस बात का ध्यान दीजिए कि आप बच्चों के कमरे में लाल रंग का ज्यादा इस्तेमाल न करें। यह एक भड़काऊ रंग है, जो बच्चों को तनाव में डाल सकता है।

पढ़ने के लिए कमरा (Study Rooms)

घर में स्टडी रूम ऐसा होना चाहिए, जो खुशी और पोजिटिविटी का एहसास दे। इसके लिए हरा, नीला, लैवेंडर और लाइट पर्पल जैसे कलर्स उपयुक्त हैं। अगर बच्चों का स्टडी टेबल उनके बेडरूम में है, तो उनके कमरे में इन रंगों का जरूर इस्तेमाल करें। ये रंग ध्यान को बढ़ाने और याददाश्त में सुधार करेंगे।

किचन (Kitchen)

वास्तु के अनुसार किचन के लिए ऐसे बहुत से कलर्स हैं, जिनका आप इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे नारंगी, सफेद, हरा, गुलाबी और पीला।

मेहमान का कमरा (Guest Room)

अब घर है तो मेहमान भी आएंगे, इसलिए उनके रूम के लिए भी कलर पेंट चुनना आपकी जिम्मेदारी है। यदि आप अपने मेहमान का स्वागत अच्छे से करना चाहते हैं और उन्हें शाही मेहमाननवाजी देना चाहते हैं, तो आप हल्का पीला, नारंगी, लैवेंडर, नीला और हरा रंगों का इस्तेमाल कर सकते हैं। घर के हर एक हिस्से को खूबसूरती, ऊर्जा व पॉजिटिविटी से भरने के लिए सही कलर्स का चुनाव करना बहुत ही जरूरी है और इसमें बर्जर पेंट्स कई बेहतरीन विकल्प प्रदान करता है।

निशुल्क सेवा के लिए यहां क्लिक करें  

लेखक- शक्ति सिंह

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK