नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। देश में दोपहिया वाहनों की तुलना में चार पहिया वाहन कम बिकते हैं वजह साफ है। देश में दोपहिया वाहनों को रखने वालों की संख्या कई गुना ज्यादा है, यह क्योंकि लोग कार की तुलना में मोटरसाइकिल को अधिक प्राथमिकता देते हैं। कार की तुलना में मोटरसाईकिल रखने वालों के क्या फ़ायदे होते है, यहां हम ऐसे ही 3 वजहों को बताने वाले है।

बेहतरीन माईलेज-

दो पहिया वाहनों का छोटा इंजन और इसका हल्का वजन इसके बेहतरीन माईलेज के लिए इसकी मदद करता है। मोटरसायकिल का माईलेज कार की तुलना में अधिक और बेहतर होता है। औसतन 1 लीटर ईंधन पर एक मोटरसाइकिल आसानी से 30 किमी से 40 किमी तक जा सकती है। इसके अलावा, यदि आप उच्च ईंधन दक्षता वाली बाइक चुनते हैं, तो वे 60 किमी से 70 किमी प्रति लीटर तक जा सकती हैं। जिस वजह से आप औसत बजट में भी अच्छे ड्राइविंग अनुभव का मज़ा ले सकते हैं।

पर्यावरण को कम पहुंचता है नुकसान

बेहतरीन माईलेज वाली बाइक कार की तुलना में पर्यावरण को कम नुक़सान पहुँचाती है। कार की तुलना में दोपहिया वाहनों की ईंधन दक्षता अधिक होती है। जिस कारण से इनसे कार्बन उत्सर्जन भी कम होता है और इससे पर्यावरण कम नुकसान पहुंचता है।

कार से सस्ती

दोपहिया वाहनों की सबसे ख़ास बात यह होती है कि इनकी री सेल क़ीमत भी बहुत अधिक होती है। साथ ही इनका माईलेज भी कार की तुलना में कहीं बेहतर होता है। दोपहिया वाहन कार की तुलना में बेहद सस्ते होते हैं। जिस वजह से एक मध्यम वर्गीय परिवार और निचला मध्यम वर्गीय परिवार भी इसे ख़रीद पाता है। 

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत एक ऐसा देश है जहां बेचे गए कुल वाहनों की अधिकांश बिक्री पैसेंजर वाहनों द्वारा कवर की जाती है और उनमें से एक बड़ा हिस्सा दोपहिया वाहनों का हैं। मोटरसाईकिल यहां ज़्यादातर ख़रीदारों की पहली पसंद है।

Edited By: Atul Yadav