नई दिल्ली, पीटीआई। जापान की जानी-मानी ऑटोमोबाइल कंपनी टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (TKM) देश में डीजल गाड़ियों की बिक्री जारी रखने की योजना बना रही है। कंपनी ने अधिकारी ने कहा कि अगले साल 1 अप्रैल से BS-VI उत्सर्जन मानदंड लागू होने के बाद ऐसे वाहनों के दाम बढ़ने की उम्मीद है।

टीकेएम के वाइस-चेयरमैन शेकर विश्वनाथन ने पीटीआई को बताया कि हम अभी भी डीजल वेरिएंट की डिमांड देख रहे हैं। भविष्य में तकनीक स्थापित करने तक इनका निर्माण जारी रखा जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि कंपनी ने देश में डीजल इंजन बनाने के लिए एक प्लांट में निवेश किया है। यह प्लांट न्यूनतम निवेश में BS-VI इंजन बनाने में सक्षम है। विश्वनाथन ने कहा कि यह प्लांट 'मेक इन इंडिया' को ध्यान में रखते हुए स्थापित किया गया है। TKM देश में इनोवा क्रिस्टा और फॉर्च्युनर जैसे लोकप्रिय मॉडल बेचती है।

जनवरी से जुलाई 2019 तक इसकी कुल वाहन बिक्री के आधार पर वर्तमान डीजल-पेट्रोल अनुपात 82:18 है। सिर्फ पैसेंजर व्हीकल की बात की जाए तो पेट्रोल-डीजल अनुपात 50:50 के करीब है।

अगले साल से डीजल कारों में BS-VI उत्सर्जन मानदंड आने के बाद उनकी कीमतें बढ़ जाएंगी, जिसको देखते हुए प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनियां अपने पोर्टफोलियो में ऐसे वाहनों के भविष्य के बारे में विचार कर रही हैं। भारतीय मार्केट में नंबर वन कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने अगले साल से पहले ही अपने पोर्टफोलियो से डीजल कारों को बाहर करने की घोषणा कर दी है। इसी तरह टाटा मोटर्स छोटी डीजल कारों को भी चरणबद्ध करने पर विचार कर रही है।

जापानी ऑटोमोबाइल कंपनी और किर्लोस्कर ग्रुप के ज्वाइंट वेंचर ने कहा कि इसमें विभिन्न प्रकार के इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) के लिए कई टेक्नोलॉजी हैं, जिन्हें बाजार की जरूरतों के आधार पर पेश किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें: बरसात के मौसम में टू-व्हीलर के लिए अपनाएं ये टिप्स, रहोगे सुरक्षित

ये भी पढ़ें: नकली Helmet हो सकता है आपके लिए खतरनाक, हमेशा ऐसे खरीदें ISI प्रमाणित हेल्मेट

 

Posted By: Sajan Chauhan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस