नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर दुनियाभर में बढ़ते ट्रेंड को देखते हुए तमाम ऑटोमोबाइल कंपनियों ने अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं। केंद्र सरकार की योजना के मुताबिक साल 2030 में भारत में सिर्फ इलेक्ट्रिक वाहन ही लॉन्च किए जाएंगे। जहां एक ओर विदेशी कार निर्माता कंपनियां भारत के इलेक्ट्रिक कार बाजार में दांव लगाने को तैयार हैं वहीं भारतीय कंपनियों ने भी अपनी कोशिशों में तेजी ला दी है। हम अपनी इस रिपोर्ट में आपको बताने की कोशिश करेंगे कि कौन कौन सी कार कंपनियां इलेक्ट्रिक कार सेगमेंट्स में अपने मॉडल्स उतारने की तैयारियां कर रही हैं।

देश के बाद महिंद्रा की नजर विदेश के बाजारों पर:

इलेक्ट्रिक कार सेगमेंट में सबसे पहला नाम आता है महिंद्रा का। महिंद्रा एंड महिंद्रा भारत की एकलौती कार कंपनी है जिसने सबसे पहले भारत में अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को उतारा और अब वो विदेशी बाजारों में अपनी संभावनाएं तलाश रही है। महिंद्रा ने हाल ही में 1495.80 करोड़ रुपये के निवेश से अमेरिका के डेट्रॉयट में अपना पहला मैन्युफैक्चरिंग प्लांट खोला है जिसमें वह अमेरिका के लिए इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण करेगी। इसके साथ ही कई विदेशी कार कंपनियां ऐसी हैं जो भारत के अलावा दूसरे देशों में भी इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर काफी उत्सुक हैं।

जानिए कौन कौन सी कार कंपनियां इलेक्ट्रिक कारों को लॉन्च करने की रेस में हैं शामिल...

1. महिंद्रा: ईवेरिटो, e2o

भारत की दिग्गज कार निर्माता कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा की इलेक्ट्रिक व्हीकल सेगमेंट में महिंद्रा ईवेरिटो और e2o प्लस मौजूद है। भारतीय बाजार में इन्हें काफी सराहना मिल रही है। महिंद्रा e2o प्लस में फीचर्स के तौर पर समकालीन डिजाइन लैग्वेज दिया गया है वहीं ईवेरिटो को सेडान कार का लुक दिया गया है।

महिंद्रा e2o प्लस में 72V की लिथियम आयन बैटरी लगाई गई है। यह 41PS की पावर और 91Nm का टॉर्क जनरेट करता है। इसमें लगी इलेक्ट्रिक मोटर ऑटो मैटिक ट्रांसमिशन से लैस है। कार की बैटरी को फुल चार्ज होने में 9 घंटे का समय लगता है। फुल चार्ज होने पर यह 140km का सफर तय कर लेती है।

महिंद्रा ईवेरिटो रिजनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम से लैस है। इसके साथ ही इसमें बूस्ट मोड दिया गया है। महिंद्रा ईवेरिटो में जीरो टेलपाइप उत्सर्जन के साथ 72V 3 फेस AC इंडक्शन मोटर लगाई गई है। यह मोटर 42PS की पावर और 91Nm का टॉर्क जनरेट करता है।

2. फॉक्सवैगन ई-गोल्फ

जर्मनी की कार निर्माता कंपनी फॉक्सैवगन की ई-गोल्फ को काफी अच्छी प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं। इसे भारत में जल्द लॉन्च किया जा सकता है। ई-गोल्फ में 100kW AC इलेक्ट्रिक मोटर लगाई गई है। यह मोटर 136PS की पावर और 290Nm का टॉर्क जनरेट करता है। इसमें 7.2kW ओनबोर्ड चार्जर के साथ SAE कोम्बो DC फास्ट चार्जर की सुविधा दी गई है।

3. फोर्ड फोकस EV

अमेरिका में फोर्ड फोकस EV को अमेरिकी बाजार में काफी अच्छी प्रतिक्रियाएं मिली हैं। कंपनी इस प्रीमियम हैचबैक को भारत में भी लॉन्च कर सकती है। इसमें 107kW इलेक्ट्रिक मोटर लगी है जो 35kWh लिक्विड कूल्ड लिथियम आयन बैटरी वाली पावर देता है। यह इलेक्ट्रिक मोटर 143hp की पावर जनरेट करती है। इस इलेक्ट्रिक कार में 6.6kW ओनबोर्ड AC चार्जर और 50kW तक की क्षमता वाला DC चार्जर दिया गया है। फोर्ड फोकस ईवी में फीचर्स के तौर पर रिजेनरेटिव ब्रेकिंग दिया गया है जो एनर्जी को रिकवर करता है। इसकी मदद से ब्रेक लगाने में पर इंजन बंद हो जाता है और एक्सीलेटर देने पर इंजन अपने आप चालू हो जाता है। इससे बैटरी में उर्जा का भंडार रहता है।

4. फोर्ड 500e

इटेलियन कार निर्माता कंपनी की फिएट 500e पूरी तरह इलेक्ट्रिक कार है। फिएट 500e में 83kW की इलेक्ट्रिक ड्राइव मोटर लगाई गई है जो 24kWh लिथियम आयन बैटरी से पैक है। यह मोटर 113PS की पावर और 200Nm का टॉर्क जनरेट करता है। फीएट 500e को 110V शॉकेट के जरिए चार्ज होने में 24 घंटे का वक्त लगता है। वहीं, 220V शॉकेट के जरिए चार्ज होने में सिर्फ 4 घंटे का वक्त लगता है।

5. BMW i3

जर्मनी की दिग्गज कार निर्माता कंपनी BMW की i3 पूरी तरह इलेक्ट्रिक वाहन है। यह कार ऑल-इलेक्ट्रिक BMW ईड्राइव सिस्टम से लैस है। इसमें एडवांस एक्टिव थर्मल मैनेजमेंट सिस्टम के साथ 33kWh हाई-वोल्टेज लिथियम आयन बैटरी लगाई गई है। इलेक्ट्रिक मोटर और बैटरी मिलकर 173PS की पावर और 250Nm का टॉर्क जनरेट करते हैं। BMW i3 7.4kW AC फास्ट चार्जिंग और DC फास्ट चार्जिंग क्षमता में उपलब्ध है। भारत में भी इसे जल्द लॉन्च किया जा सकता है। 

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप