नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। टाटा मोटर्स ने पुणे स्थित अपने पैसेंजर व्हीकल बिजनेस यूनिट (पीवीबीयू) कारखाने में 3MWp क्षमता के रूफटॉप सोलर प्रोजेक्ट लगाने और इसे शुरू करने के लिए टाटा पावर के साथ सौर विद्युत क्रय अनुबंध पर हस्ताक्षर किया है । इस सोलर रूफटॉप प्रोजेक्ट से करीब 45 लाख KWh बिजली का उत्पादन हर साल होने की उम्मीद है, जिससे प्रति वर्ष लगभग 3,538 टन कार्बन के उत्सर्जन में कमी आएगी ।

इस अवसर पर टाटा मोटर्स के वाइस प्रेसिडेंट - परिचालन, पैसेंजर व्हीकल बिजनेस यूनिट, श्री राजेश खत्री ने कहा कि, “हाल में पुणे में हमारे कार कारखाने में भारत के सबसे बड़े सोलर कारपोर्ट के उद्घाटन के बाद,यह प्रोजेक्ट पृथ्वी पर हमारा प्रभाव कम करने की निरंतन कोशिशों में एक नया मील का पत्थर है । ऊर्जा दक्षता हमारी कोशिशों के केंद्र में है और ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन तथा हमारे उत्पादों के कार्बन फुटप्रिंटमहत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं । हम अपने विनिर्माण संयंत्रों में ऊर्जा का संरक्षण, गैर-नवीकरणीय जीवाष्म ईंधन की खपत का इष्टतमीकरण, ऊर्जा उत्पादकता, जलवायु परिवर्तन न्यूनीकरण और परिचालन लागतों में कमी करना जारी रखेंगे।”

टाटा मोटर्स के साथ साझेदारी के बारे में श्री रविंदर सिंह, चीफ - सोलर रूफटॉप बिजनेस, टाटा पावर ने कहा कि, “वन टाटा पहल के रूप में हमें टाटा मोटर्स के पीवीबीयू पुणे इकाई के रूपांतरण में मदद के लिए उनके साथ साझेदारी करके खुशी हो रही है । यह साझेदारी टाटा मोटर्स को उनके कार्बन फुटप्रिंट कम करने और शुद्ध शून्य कार्बन लक्ष्य हासिल करने में मदद के लिए हमारे सामूहिक प्रयासों का निरूपण है। हम इस तरह के भविष्य-केन्द्रित हरित ऊर्जा समाधान प्रदान करते रहेंगे और स्वच्छ ऊर्जा के संसाधनों का लाभ उठाते हुए अपने साझीदारों को मजबूत बनाना जारी रखेंगे।”

आरई100 का हस्ताक्षरी होने के नाते,टाटा मोटर्स 100% नवीकरणीय ऊर्जा का प्रयोग करने के लिए वचनबद्ध है और अपने परिचालनों में नवीकरणीय ऊर्जा का अनुपात धीरे-धीरे बढ़ाते हुए इस लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में अनेक कदम उठाये हैं । वित्त वर्ष 2021 में पुणे और सानंद में कंपनी के कार प्लांट्स ने 26.10KWh नवीकरणीय बिजली उत्पादित/संसाधित किया, जो इसके कुल बिजली खपत (111.3 मिलियन यूनिट्स) का 25.0% है. इससे 18,672 मीट्रिक टन कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) का उत्सर्जन रोका जा सका. कंपनी का इरादा वर्ष 2030 तक 100 प्रतिशत नवीकरणीय ऊर्जा प्राप्त करने की महत्वाकांक्षा पूरी करने के लिए और अधिक कर्मठता के साथ जितना संभव हो सके उतनी नवीकरणीय ऊर्जा प्राप्त करना है ।

 

Edited By: Vineet Singh