नई दिल्ली, अंकित दुबे। Auto Expo 2018 के दौरान Tata Motors ने H5X कॉन्सेप्ट पेश किया था जिसे देखने के बाद लोगों ने साल भर तक इसका इंतजार किया और जब भारतीय सड़कों पर ये आई तो इसका डिजाइन लोगों को काफी भाने लगा। Tata Harrier हमेशा से ही अपने डिजाइन को लेकर लोगों को काफी लुभाती आई है। आज हम अपनी इस रिपोर्ट में Tata Harrier के बारे में तीन ऐसे कारण बताएंगे जिसके चलते लोगों को इसे खरीदना चाहिए और तीन ऐसे कारण जिसके चलते लोगों को इसे नहीं खरीदना चाहिए।

खरीदने के तीन बड़े कारण

पहला कारण - अगर आप इन दिनों एक ऐसी एसयूवी की तलाश कर रहे हैं जिसे लोग मुड़ मुड़ कर देखें तो ये एसयूवी आपके लिए एक perfect पैकेज के साथ आती है। इसमें ब्रांड की लेटेस्ट Impact 2.O डिजाइन Philosophy दी गई है, जिसके चलते इसकी स्टाइलिंग काफी बेहतर और युनिक लगती है। इसके हेडलैंप्स की अरेंजमेंट, रूफलाइन और टेल लैंप्स सड़कों पर लोगों की नजरों को अपनी ओर खींचते हैं। Harrier कंपनी की एक किफायती और पहली ऐसी एसयूवी है जिसे टाटा की ही कंपनी जगुआर लैंड रोवर के OMEGA प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है। और इसी वजह से ये काफी मजबूत दिखने के साथ-साथ लैंड रोवर Discovry Sport की झलक भी देती है।

दूसरा कारण - कंपनी ने इसमें 2.0 लीटर डीजल इंजन दिया है जो करीब 138 bhp की पावर और 350 Nm का टॉर्क जनरेट करता है। कंपनी ने इसके इंजन की रिफाइनमेंट में काफी अच्छा काम किया है। चलाने के दौरान इसकी पावर डिलीवरी काफी स्मूथ है और कहीं से भी आपको निराश नहीं करती। इसके अलावा कंपनी इसमें तीन राइडिंग मोड्स यानी Eco, city और स्पोर्ट भी ऑफर कर रही है। जिसके चलते आप ईको मोड पर एक अच्छे माइलेज के अलावा स्पोर्ट मोड पर दमदार परफॉर्मेंस भी हासिल कर सकते हैं। इसके अलावा कंपनी इसमें 2-wheel Drive होने के बावजूद कुछ ऑफ-रोड क्षमताएं भी दे रही है, जिसके चलते आप इससे छोटी-मोटी ऑफ रोडिंग भी कर सकते हैं।

तीसरा कारण - इसका इंटीरियर काफी प्यारा और Rich फील देता है। डैशबोर्ड पर Wooden फिनिश के अलावा काफी अच्छे Plastic Material का इस्तेमाल किया गया है। और यहां टेरेन रिस्पांस के अलावा, एक बड़ा टचस्क्रीन सिस्टम और सेमी-डिजिटल इंस्ट्रूमेंट कंसोल भी दिया गया है। सेफ्टी के तौर पर भी कंपनी ने इसमें 6 एयरबैग्स के अलावा ABS, ESC और Hill Descent Control जैसे फीचर्स दिए गए हैं, जो इसे एक परफेक्ट पैकेज बनाते हैं। इसके अलावा ये एसयूवी अंदर से काफी Spacious लगती है और यहां आराम से 5 लोग आसानी से बैठ सकते हैं।

Tata Harrier को ना खरीदने के तीन बड़े कारण

पहला कारण - सिटी ड्राइव में ट्रैफिक के दौरान आपको Harrier चलाने में थोड़ी दिक्कत हो सकती है क्योंकि इसमें कंपनी सिर्फ मैनुअल ट्रांसमिशन ही ऑफर कर रही है, ऑटोमैटिक इसमें नहीं दिया गया है और बार-बार क्लच दबाने के दौरान आपका घुटना डैशबोर्ड के लोअर पार्ट से टकरा सकता है। कंपनी को इसमें एक ऑटोमैटिक ऑप्शन भी शामिल करने की जरूरत है और हमें लगता है कि कंपनी जल्द ही इसमें एक ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन शामिल कर सकती है।

दूसरा कारण - अब दूसरे कारण की बात करें तो कंपनी ने इसके एक्सटीरियर और इंटीरियर में डिजाइन तो काफी अच्छा दिया है, लेकिन थोड़ी फिट & फिनिश काफी एवरेज लगती है। Harrier के एक्सटीरियर और इंटीरियर में कुछ पैनल्स हमने देखें जहां fixtures इतनी ज्यादा अच्छी नहीं लगती है। कंपनी इसकी फिट एंड फिनिशिंग में थोड़ा और सुधार कर सकती थी।

तीसरा कारण - अब आखिर में जो हमें पसंद नहीं आया। कंपनी इसके टॉप मॉडल में भी सनरूफ और डुअल-जोन क्लाइमेट कंट्रोल जैसे फीचर्स नहीं दे रही जो कि इस सेगमेंट की कई एसयूवी में मौजूद हैं। हालांकि, कंपनी अब इसका सनरूफ एक एक्सेसरीज के तौर पर दे रही है, मगर इसके लिए आपको करीब 1 लाख रुपये और ज्यादा खर्च करने होंगे।

Posted By: Ankit Dubey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस