नई दिल्ली, टेक डेस्क। Budget 2020 में निर्मला सीतारमण ने ऑटो से सेक्टर को लेकर यूं तो कुछ बड़ी घोषणाएं नहीं की हैं, लेकिन सरकार के इनकम को बूस्ट करने से लेकर तमाम ऐसे प्लान्स हैं, जिनका इंडस्ट्री पर असर पड़ सकता है। इस बजट पर इंडस्ट्री में मौजूद बड़ी कंपनियों का कहना है? उनके अनुसार क्या बजट अच्छा रहा या इस बजट में कुछ खास बदलाव देखने को नहीं मिले? जानते हैं Budget 2020 पर क्या है ऑटो इंडस्ट्री का रिएक्शन।

ब्रिजस्टोन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर पराग सटपुटे का कहना है की- यूनियन बजट 2020 भविष्य का बजट है। सरकार ने आगे की ओर लक्ष्य कर इनकम को बढ़ने या उसे बूस्ट करने, पर्चेसिंग पॉवर बढाने और हाइवे के विकास पर खास जोर दिया है। आने वाले समय में दिल्ली-मुंबई और चेन्नई-बैंगलोर एक्प्रेस-वे बनाने की बात कही गई है। सरकार के यह सभी कदम सराहनीय है। क्लाइमेट चेंज पर सरकार का फोकस और हवा को साफ रखने के लिए 4400 करोड़ रुपये का आवंटन किया है।

राजीव कपूर, एमडी, स्टीलबर्ड ने Budget 2020 पर अपनी राय व्यक्त करते हुए कहा- की वित्त मंत्री द्वारा प्रस्तुत किए गए इस बजट का स्वागत करते हैं। लेकिन ऑटो सेक्टर को लेकर कुछ बड़ी घोषणाएं ना होने पर भी उन्होंने कहा की उन्हें आशा थी की मोटर वाहन क्षेत्र में अधिक ध्यान दिया जाना चाहिए था। मोटर वाहन क्षेत्र के दिन-प्रतिदिन नीचे जा रहा है, जो की 50 लाख से अधिक लोगों को रोजगार देता है। इस बाबत बजट में कोई बात नहीं की गई है या कोई प्रावधान नहीं लाया गया है। उनका कहना है कि- उम्मीद है की आने वाले समय में इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश के बाद लिक्विडिटी बेहतर होगी और भारत में इनकम फ्लो होने से सेक्टर में सुधर देखने को मिल सकता है। निम्न वर्ग और उच्च वर्ग के लोगों के लिए हमें 40,000 रुपये से कम कीमत वाली मोटर-साइकिल और 2,00,000 रुपये से कम कीमत वाली कारों के लिए GST 5 प्रतिशत तक कम करना होगा। इसके अलावा, 2,00,000 रुपये से अधिक कीमत वाली कारों के लिए, GST दोगुना होना चाहिए। इससे खपत बढ़ेगी और ऑटो क्षेत्र अपना अस्तित्व बचाए रख पाएगा। 

Posted By: Sajan Chauhan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस