नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। भारत की ट्रैक्टर निर्माता कंपनी सोनालिका दुनिया के सबसे बड़े ऑटो बाजार चीन में पहुंच गई है। सोनालिका ग्रुप ने बताया कि इसकी फ्लैगशिप कंपनी इंटरनेशनल ट्रैक्टर लिमिटेड (आइटीएल) चीन के शैनडांग लुयु हेवी इंडस्ट्री कॉरपोरेशन के साथ मिलकर चीन में 40 करोड़ डॉलर की लागत से संयुक्त उपक्रम बनाएगी। इस समझौते के मुताबिक ट्रैक्टर्स के इंजन के लिए सोनालिका चीन में एक असेंबली प्लांट भी लगाएगी। सोनालिका भारत की सबसे बड़ी ट्रैक्टर निर्यातक कंपनी है।

सोनालिका आइटीएल के मैनेजिंग डायरेक्टर दीपक मित्तल ने बताया कि चीन में हमारी रेंज के ट्रैक्टर्स की मांग बहुत अधिक है। हमें उम्मीद है कि हम अपने सहयोगी के साथ मिलकर चीन के किसानों को बेहतर तकनीकी और उचित मूल्य पर ट्रैक्टर उपलब्ध करा सकेंगे। आइटीएल ने इस समय 120 देशों में अपनी मौजूदगी बना रखी है।

कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि लुयु ने चीन के स्मॉल लोडर, फोर्कलिफ्ट बाजार में अच्छी मौजूदगी बना रखी है। यह अपने उत्पादों को दूसरे देशों में निर्यात भी करती है। चीन दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा ट्रैक्टर बाजार है और धीरे-धीरे ग्लोबल ट्रैक्टर निर्माता के रूप में अपनी पहचान बना रहा है, इसलिए सोनालिका के लिए यहां काफी मौके हैं। कंपनी ने कहा कि हम लुयु के अलावा दूसरे सहयोगी के साथ मिलकर कारोबार आगे बढ़ाने पर भी विचार कर रहे हैं। इस संयुक्त उपक्रम के जरिये लियू के लोडर और दूसरी उपकरणों के लिए इंजन भी असेंबल किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें:

इलेक्ट्रिक कारों को खरीदने में सरकार कर रही देरी, खरीदनी हैं 10000 ईवी

Honda की यह इलेक्ट्रिक कार एक बारी में चलती है 400 किलोमीटर, जानें किस देश में हुई लॉन्च

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप