मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। भारत में तेल और गैस क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए Schneider Electric ने इकोस्ट्रक्चर पावर एंड प्रोसेस (EP&P) के लॉन्च की घोषणा कर दी है। कंपनी का कहना है कि इससे अर्थव्यवस्था के इस सेगमेंट में इफिशियंसी और मुनाफा दोनों बढ़ेगा। कंपनी ने इसके लिए माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के साथ साझेदारी की है, जिससे एनर्जी मैनेजमेंट और ऑटोमेशन में कॉमर्शियस इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) को बनाया जा सके। इससे पावर और प्रॉसेस दोनों को साथ लाने में मदद मिलेगी। इस प्लेटफॉर्म के जरिए Schneider Electric का मकसद कैपेक्स और ओपेक्स में 20 से 30 फीसद तक की कमी लाना है, जिससे O&G सेक्टर में आने वाली अस्थिरता से जुड़ी चुनौतियों को पार किया जा सके।

कंपनी का कहना है कि जब भी पावर और प्रोसेस मैनेजमेंट सिस्टम अलग-अलग साइकिल्स में काम करते हैं, तो इससे बिजनेस ऑर्गनाइजेशन को नुकसान का सामना करना पड़ता है। ऐसे में इंजीनियर्स और प्रोग्रामर्स की अलग-अलग टीमों के मैकिंग और प्रोसेसिंग को बनाए रखना सबसे जरूरी है।

लॉन्च पर जवाब देते हुए अनिल चौधरी, जोन प्रेसिडेंट एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, Schneider Electric India ने कहा, “मार्केटप्लेस में बदलावों और तकनीक को एडवांस्ड करने से मुश्किल टॉक्स को भी आसानी से पाया जा सकता है।” उन्होंने आगे कहा, “भारतीय हाइड्रोकार्बन क्षेत्र बड़े बदलावों के केंद्र में है, क्योंकि कंपनियां तेल और गैस क्षेत्र में भारत की आत्मनिर्भरता को बढ़ाने के लिए अपने प्रयासों को बढ़ाती हैं और देश में परिवहन के लिए पाइपलाइन के बुनियादी ढाँचा को स्थापित करती हैं।”

वहीं, Schneider Electric के साथ साझेदारी पर Meetul Patel, COO, Microsoft India ने कहा, “तेल और गैस बिजनेस में ऑपरेशन काफी फैला हुआ है, जिससे इफिशियंट एसेट्स मैनेजमेंट काफी चुनौतीपूर्ण हो रहा है।”

Posted By: Shridhar Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप