नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। ब्रिटिश की लग्जरी कार निर्माता कंपनी Roll-Royce ने घोषणा करते हुए कहा कि वह दुनिया का सबसे तेज इलेक्ट्रिक प्लेन बनाने जा रही है। यह ऐसा इलेक्ट्रिक प्लेन है जिसकी रफ्तार 480 kmph होगी। इससे पहले जर्मन की सीमेंस ने 337 kmph की रफ्तार से उड़ान भरने वाला इलेक्ट्रिक प्लेन बनाया था। एविएशन टर्बाइन फ्यूल पर चलने वाले सामान्य यात्री विमान की औसतन रफ्तार 925 kmph होती है।

Roll-Royce का इलेक्ट्रिक प्लेन 2020 तक पूरी तरह तैयार कर लिया जाएगा। कंपनी का कहना है कि यह थर्ड वे ऑफ एविएशन में सबसे आगे और इलेक्ट्रिफिकेशन में चैम्पियन बनना चाहती है।

सबसे ज्यादा पावरफुल बैटरी का होगा इस्तेमाल

Rolls-Royce के इस प्लेन को बनाने वाले प्रोजेक्ट मैनेजर मैथ्यू पार ने कहा, "इलेक्ट्रिक प्लेन में हाई डेंस बैटरी पैक का इस्तेमाल किया जाएगा जो सिंगल चार्ज पर 321 km का सफर तय करने में सक्षम होगा। अगर कंपनी की यह टेक्नोलॉजी ठीक रही तो जल्द ही यह प्लेन उड़ान भरते हुए नजर आएगा। यह प्लेन इलेक्ट्रिक सिस्टम और मोस्ट पावरफुल बैटरी पैक से लैस है और अब तक किसी भी प्लेन में इस्तेमाल नहीं की गई है।"

दुनियाभर में बनेंगे लगभग 100 इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट

इलेक्ट्रिक प्लेन के प्रोपेलर को चलाने के लिए करीब तीन लाइटवेट हाई पावर डेंसिटी वाली इलेक्ट्रिक मोटर का इस्तेमाल किया जाएगा, जिसे यूके की इलेक्ट्रिक मोटर और मोटर कंट्रोलर मैन्युफैक्चरर कंपनी YASA ने बनाया है। सबसे खास बात कि इसमें ब्रिटिश सरकार भी निवेश कर रही है। दुनिया भर में लगभग 100 इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट प्रोजेक्ट बनाने पर का किया जा रहा है। इसे लेकर लंदन हीथ्रो ने कहा कि यह 2030 तक ये प्लेन्स को दुनिया के बड़े एयरपोर्ट पर देखे जा सकेंगे।

छोटा और स्पोर्टी होगा प्लेन

Roll-Royce के ये इलेक्ट्रिक प्लेन्स छोटे और स्पोर्टी होंगे जिसकी कॉकपिट पीछे की तरफ होगी। इसके अलावा प्लेन के फ्रंट में एक लंबा नोज शेप डिजाइन होगा जो किसी विंटेज रोडस्टर की याद दिलाता है। इसके आगे के हिस्से में बैटरी पैक रख जाएंगे जो प्लेन को पावर सप्लाई करेंगे। कंपनी ने इस प्लेन को ACCEL (एक्सीलरेटिंग एंड इलेक्ट्रिफिकेशन ऑफ फ्लाइट) प्रोजेक्ट के तहत बनाया जा रहा है, जिसमें पावरफुल बैटरी पैक इस्तेमाल किया गया है और यह न सिर्फ मोटर को 1,000 bhp की पावर देगी।

लंदन से पेरिस तक भरेगा उड़ान

यह इलेक्ट्रिक प्लेन 200 मील रेंज की रफ्तार से उड़ने में सक्षम होगा, जो कि लंदन से पेरिस तक आसानी से उड़ सकता है। इसके अलावा इसमें कई सारे सेंसर्स दिए गए हैं, जो कि 20,000 डेटा प्वाइंट्स को हर सेकंड मॉनिटर करेंगे और यह सेंसर्स बैटरी वोल्टेज डिटेलिंग, टेम्परेचर और कई सारे पहलुओं पर नजर रखेंगे।

यह भी पढ़ें:

2019 Yamaha YZF-R15 V3.0 इस सेफ्टी फीचर के साथ भारत में हुई लॉन्च, जानें नई कीमत

Tata Motors की JLR कर सकती है 5000 लोगों को बेरोजगार, भारत में ये मॉडल्स पॉपुलर

Posted By: Ankit Dubey