नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। Maruti Suzuki ने 6 लाख से ज्यादा ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन वाली पैसेंजर वाहनों की बिक्री करके नया मील का पत्थर हासिल किया है। इसमें 5 लाख से ज्यादा वाहन कंपनी की पॉपुलर ऑटो गियर शिफ्ट (AGS) टेक्नोलॉजी से लैस हैं। ऑटोमैटिक वाहनों की बिक्री तब बढ़ना शुरू हुई जब 5 साल पहले कंपनी ने साल 2014 में Celerio में AGS टेक्नोलॉजी शामिल की थी। वित्त वर्ष 2018-19 में कंपनी ने कुल 2 लाख से ज्यादा ऑटोमैटिक वाहनों की बिक्री की है।

मारुति सुजुकी अपने 12 मॉडल्स में विभिन्न ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन ऑफर कर रही है जिसमें ऑटो गियर शिफ्ट (AGS), ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन (AT) और कंटीन्यूअल वेरिएंट ट्रांसमिशन (CVT) शामिल है। AGS को कंपनी Alto K-10, S-Presso, WagonR, Celerio, Ignis, Swift, Dzire और Vitara Brezza में दे रही है। वहीं AT ट्रांसमिशन को Ertiga, Ciaz और XL6 में दिया जा रहा है और Baleno में CVT टेक्नोलॉजी दी जा रही है।

Maruti Suzuki के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ, Kenichi Ayukawa ने कहा, "मारुति सुजुकी ऑटोमैटिव टेक्नोलॉजी को भारतीय बाजार में लाने के लिए प्रतिबद्ध है। यह प्रमुख मील का पत्थर है जो आराम और आसान ड्राइविंग के लिए आने वाली नई टेक्नोलॉजी की बढ़ती ग्राहक संख्या को दर्शाता है। कई ऑटोमैटिक विकल्पों की पेशकश करके हम विभिन्न सेगमेंट को पूरा करने में सक्षम हैं।"

उन्होंने आगे कहा, "हमारी ऑटोमैटिक टेक्नोलॉजी ड्राइविंग को आसान बनाती है, खासकर ट्रैफिक के दौरान और यह अच्छा माइलेज देने के साथ ही किफायती भी है।"

मारुति सुजुकी के ऑटोमैटिक वाहन पूरे देशभर में जैसे बेंगलुरू, दिल्ली, हेदराबाद, मुंबई, पूणे और चेन्नई में मौजूद हैं।

येे भी पढ़ें:

दिसंबर में कार डिस्काउंट का सबसे बड़ा मेला, 20 हजार से 2.25 लाख रुपये तक की छूट

डीजल कार बंद करने के मामले में Maruti Suzuki बदल सकती है अपना फैसला, जानें बड़ी वजह

Posted By: Ankit Dubey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस