विजयवाड़ा (अंकित दुबे)। दुनिया की 8वीं सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी किया मोटर्स इंडिया ने आज आंध्र प्रदेश सरकार के साथ 'फ्यूचर इको मोबिलिटी' पर सहयोग करने के लिए समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किया है। यह साझेदारी आंध्र प्रदेश सरकार को इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) और स्थानीय ईवी इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास में वृद्धि के लिए Kia की प्रतिबद्धता को मजबूत करती है।

इस MoU पर हस्ताक्षर आंध्र प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री एन चंद्रबाबू नायडू और किया मोटर्स के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ, श्री कूक्युन शिम की उपस्थिति में हुए हैं। समझौते के हिस्से के रूप में किया मोटर्स ने सरकार को अपनी वैश्विक बेस्टसेलिंग कार के तीन उदाहरण दिए हैं। इनमें निरो हाइब्रिड, निरो प्लग-इन हाइब्रिड और एक निरो ईवी शामिल हैं। इसके अलावा किया ने क्षेत्रीय सरकार के प्रतिनिधियों के लिए अपने नए पर्यावरण-अनुकूल बेड़े में इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्ज करने के लिए विजयवाड़ा में एक वाहन चार्जिंग स्टेशन भी स्थापित किया है।

यह साझेदारी तेजी से फैल रहे भारतीय बाजार में क्लीन मोबिलिटी के भविष्य के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है, जो आंध्र प्रदेश के लिए अपने अनंतपुर प्लांट में इको-फ्रेंडली वाहन बनाने के लिए किया की लंबी अवधि की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

आंध्र प्रदेश सरकार 14 स्मार्ट शहरों को विकसित कर रही है और इसमें निवासियों को बढ़ा रही है और व्यवसायों को अपने संसाधनों को अनुकूलित करने में सक्षम बना रही है।

बाजार के लिए किया की प्रतिबद्धता के हिस्से के रूप में, कोरियाई ब्रांड क्षेत्रीय सरकार के साथ एक नई जनरेशन ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम को डिजाइन करने के लिए काम कर रही है, जो इन शहरों में से प्रत्येक में नागरिकों को मुहैया होता है। इसके साथ ही किया मोटर्स ने अपनी ACE स्ट्रैटेजी के बारे में भी बताया।

किया मोटर्स इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ, कूक्युन शिम ने कहा, "फ्यूचर मोबिलिटी को कनेक्टेड और टिकाऊ टेक्नोलॉजी द्वारा परिभाषित किया जाएगा जो ग्राहकों के जीवन शैली और पर्यावरण के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। किया ग्लोबल ईको-फ्रेंडली व्हीकल बाजार में सबसे आगे है और हम भारत में इसे हासिल करने के आश्वस्त हैं। आंध्र प्रदेश सरकार के साथ यह नई साझेदारी इस बात पर प्रकाश डालती है कि हम EV इंफ्रास्ट्रक्चर और ईको-फ्रेंडली व्हीकल्स का तेजी से समर्थन कैसे कर रहे हैं, जिससे भारत में फ्यूचर मोबिलिटी के लिए नई संभावनाएं आ रही हैं।"

क्या है Kia की ACE स्ट्रैटेजी?

किया की ACE स्ट्रैटेजी के तहत ऑटोनोमस, कनेक्टेड और ईको/इलेक्ट्रिक कारों कों उत्पादित किया जाएगा और 2030 तक ब्रांड के हर सेगमेंट में जुड़े कार टेक्नोलॉजी को अपनाएगा। इसके अलावा कंपनी 2025 तक 16 इलेक्ट्रिफाइड वाहनों की पेशकश करने की योजना बना रही है। कंपनी ड्राइविंग और पर्यावरण अनुकूल वाहनों के विकास और व्यावसायीकरण में निवेश करना जारी रखती है।

किया मोटर्स करीब 20 वर्षों से ज्यादा समय के लिए ईको-फ्रेंडली व्हीकल टेक्नोलॉजी को विकसित कर रही है। कंपनी ने 2009 में शून्य उत्सर्जन वाहनों की खोज में सब-ब्रांड 'इकोडायनामिक्स' लॉन्च किया।

किया मोटर्स का पहला 'इकोडायनामिक्स' वाहन फोर्ट LPi हाइब्रिड वर्ष 2009 में पेश किया। इसके अलावा किया ने वैश्विक बाजारों में तीन हाइब्रिड, दो प्लग-इन हाइब्रिड और दो बैटरी इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए ईको-फ्रेंडली वाहनों की लाइन-अप का विस्तार करना शुरू किया। इसके अलावा कंपनी फ्यूल-सेल इलेक्ट्रिक वाहनों की टेकनोलॉजी को डेवेलप करना जारी रखा है।

आंध्र प्रदेश सरकार को गिफ्ट दिए 3 वाहन

किया मोटर्स ने आंध्र प्रदेश सरकार को तीन नए निरो इलेक्ट्रिक वाहन गिफ्ट किए हैं। इनमें एक फुली इलेक्ट्रिक क्रोसओवर भी शामिल है, जो सिंगल चार्ज पर 455 किलोमीटर की यात्रा करने में सक्षम है। इसके अलावा कंपनी ने वैश्विक स्तर पर सबसे ज्यादा बिक रहे हाइब्रिड मॉडल्स - निरो हाइब्रिड और निरो प्लग-इन हाइब्रिड की एक-एक यूनिट्स भी सरकार को दी।

Posted By: Ankit Dubey