नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। सरकार और निजी क्षेत्र की कंपनियां सड़क हादसों को रोकने के लिए हर साल सड़क सुरक्षा अभियान पर करोड़ों रुपए खर्च करती है। यहां तक कि सख्त कानून भी बनाए गये हैं, लेकिन परिणाम ढाक के तीन पात। तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों के मानसिक रवैये में बदलाव नहीं आ रहा है। अभी भी लोग यातायात नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं और खुद व दूसरों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

हाल के वर्षों में सड़क हादसों में बेतहाशा बढ़ोतरी के जो मामले सामने आए हैं, उनमें नाबालिग बच्चों द्वारा गाड़ी चलाना, शराब पीकर गाड़ी चलाना, मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हुए गाड़ी चलाना, बिना हेलमेट के गाड़ी चलाना, ओवरलोडिंग और ओवरस्पीडिंग आदि शामिल है। एक रिपोर्ट के मुताबिक सड़क दुर्घटनाओं के 65 प्रतिशत शिकार लोग 18 से 35 वर्ष के होते है। ऐसे में सरकार और निजी क्षेत्र की कंपनियों को चाहिए कि वह पूरी सजगता के साथ यातायात नियमों का पालन करने के लिए युवाओं को जागरूक करें। इस मामले में ऑटोमोबाइल कंपनी Hyundai के प्रयास काफी सराहनीय है। इनका #BeTheBetterGuy नाम का अभियान लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है। इस अभियान के जरिए Hyundai रोड सेफ्टी को लेकर लोगों को सतर्क व जागरूक कर रही है और बता रही है कि खुद की और दूसरों की सुरक्षा करके कैसे हम एक बेहतर इंसान बन सकते हैं?

एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते आपको भी #BeTheBetterGuy अभियान से जुड़ना चाहिए और बेहतर इंसान बनने की दिशा में कदम बढ़ाना चाहिए। अगर आप अनुशासित रवैया अपनाकर यातायात नियमों का पालन करेंगे तो समाज में जरूर बदलाव आएगा। इसकी शुरुआत अपने घर से करनी होगी। अगर आपके घर में कोई बच्चा ऐसा है, जिसकी उम्र वाहन चलाने के लिए निर्धारित की गई उम्र से कम है, तो आप उसे गाड़ी की चाभी न दें। आपकी यह कोशिश बच्चे के साथ-साथ दूसरों के जीवन को सुरक्षित करेगी।

इसके अलावा आप कभी भी शराब पीकर गाड़ी न चलाएं। अगर आपका कोई करीबी या दोस्त ऐसा कर रहा है, तो उस स्थिति में आप स्वयं ड्राइव करें या फिर उनके लिए कैब बुक कर दें। इस तरह आप अपने दोस्त और उसकी फैमली को यह भरोसा दे पाएंगे कि वह जहां भी हैं सुरक्षित हैं। एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते आप खुद के साथ-साथ दूसरों की जान की कीमत को जरूर समझते होंगे। इसलिए आगे से जब भी गाड़ी चलाएं, उस दौरान फोन पर बात न करें, क्योंकि जब आप अपनी सेफ्टी को लेकर सतर्क रहेंगे तभी दूसरों की सेफ्टी सुनिश्चित हो पाएगी।

सड़क हादसों पर लगाम न लगने की एक बड़ी वजह ओवरस्पीडिंग भी है। इसके लिए आपको अपने अंदर जवाबदेही का भाव पैदा करना होगा। जवाबदेही इस बात की कि आपकी जान केवल आपकी नहीं, बल्कि आपके परिवार की भी है। इसलिए जब भी गाड़ी की स्पीड बढ़े, तो यह ध्यान दें कि आपका कोई घर पर इंतजार कर रहा है। सड़क सुरक्षा या रोड सेफ्टी हर किसी के लिए एक महत्वपूर्ण मुद्दा होना चाहिए। सरकार और Hyundai जैसी कंपनियां अपने स्तर पर काम कर रही हैं। अब बारी हमारी है कि इनके मुहिम को जन जन तक पहुंचाया जाए और लोगों को जागरूक किया जाए। Hyundai की पहल #BeTheBetterGuy दिखाती है कि यदि सड़क हादसों को रोकना है तो समाज के हर एक व्यक्ति को पूरी जिम्मेदारी के साथ यातायात नियमों का पालन करना होगा, क्योंकि सुधार तभी आएगा जब हर कोई यातायात नियमों का पालन करने के लिए अभ्यस्त हो जाए।

Note - This is Brand Desk content

लेखक - शक्ति सिंह

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस