नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। साल 2019 में जब मोटर व्हीकल एक्ट में बदलाव किया तब लोगों के मन में काफी डर बैठ गया। क्योंकि, चालान की कीमतें पहले की तुलना में कई गुना बढ़ गया है। भारत में कुछ ऐसे चालान भी काटे गए हैं, जिनकी कीमतों के बारे में जानकार आपके होश उड़ जाएंगे। आइये जानते हैं अब तक सबसे बड़ा चालान किसका कटा..

भारत का सबसे महंगा ट्रैफिक चालान

इसके पहले कि हम विस्तार से पूरी बातें बताएं, भारत में कई चौंका देने वाले यातायात उल्लंघन चालान के कई मामले सामने आए हैं, जो चालान की इस सूची से भी कई गुना अधिक है। उदाहरण के तौर पर जनवरी 2020 में एक Porsche लग्जरी कार के मालिक को 'आवश्यक दस्तावेज नहीं होने' पर 27.68 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया था। अहमदाबाद पुलिस ने जनवरी जब Porsche 911 Carrera S को पकड़ा था, तब उस गाड़ी पर कोई नंबर प्लेट नहीं लगे थे और न ही उस गाड़ी के मालिक के पास उस समय जरूरी डॉक्यूमेंट्स थे। इसकी जानकारी अहमदाबाद पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट उस समय शेयर की थी।

इससे पहले दिल्ली-एनसीआर में कटा था सबसे बड़ा चालान

Porsche से पहले, यह रिकॉर्ड राजस्थान में पंजीकृत एक वाहन के पास था, जिस पर रोहिणी सर्कल पुलिस द्वारा 'यातायात नियमों का उल्लंघन करने' के लिए दिल्ली में 1,41,700 रुपये का जुर्माना लगाया गया था। मोटर व्हीकल एक्ट में हुए संसोधन के बाद, बिना वैध ड्राइविंग लाइसेंस के कार या दोपहिया वाहन चालाने पर 5000 रुपये तक का भारी चालान कट रहा है। हालांकि, 2019 से पहले इसकी कीमत 500 रुपये हुआ करता था।

वैलिड लाइसेंस प्लेट न होने पर इतने का कटता है चालान

अगर आप बिना नंबर प्लेट के या फिर फैंसी नंबर के साथ गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाते हैं तो आपको चालान का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए जब भी आप गाड़ी को चलाने के लिए सड़क पर ले जाएं, उस समय पर्याप्त डॉक्यूमेंट्स अपने साथ जरूर ले जाएं।

रश या खतरनाक ड्राइविंग पर इतना लगता है जुर्माना

अगर आप सड़क पर रश ड्राइविंग करते हुए पकड़े जाते हैं तो आपके पहली बार: 6 महीने से 1 साल तक की कैद और/या 1,000 रुपये से 5,000 रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है, वहीं दूसरी बार ऐसा करने पर 2 साल तक की कैद या 10,000 रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। पहली बार नशे में गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाने पर 10,000 रुपये का चालान होगा, दूसरी बार यह बढ़कर 15,000 रुपये हो जाता है। साथ ही छह महीने से दो साल तक की जेल भी हो सकती है।

Edited By: Atul Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट