नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। होंडा की सेकंड़ जनरेशन मॉडल को वर्ष 2007 में लॉन्च किया गया था। मिड-साइज एसयूवी और क्रॉसओवर सेगमेंट में इस कार को दुनियाभर में काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही हैं। सबसे खास बात कि यह कार सिर्फ पेट्रोल इंजन में ही है। टोयोटा की RAV4 के साथ नई होंडा CR-V को डीजल वर्जन के साथ नहीं उतारा गया। कंपनी अब अपनी इस कार को 2019 से हाईब्रिड वर्जन में लॉन्च करेगी। इसके साथ ही इसमें 1.5 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन दिया जाएगा।

होंडा CR-V में दिया जाने वाला इंजन इस वक्त होंडा सिविक में भी दिया गया है। हालांकि, नई CR-V को नए प्लेटफॉर्म और चैसी पर बनाया गया है। इसके अलावा CR-V का डायमेंशन पुराने वर्जन की तरह समान ही है। इसका व्हीलबेस में 30mm की वृद्धि की गई है, जिसकी वजह से पहली बार CR-V में 7 सीट्स का विकल्प दिया गया है।

इंटरनेशनल मार्केट में होंडा CR-V में 1.5 लीटर पेट्रोल टर्बो इंजन दिया गया है। इसमें फ्रंट-व्हील ड्राइव और ऑल-व्हील ड्राइव वर्जन का विकल्प दिया गया है। मैनुअल गियरबॉक्स से साथ यह इंजन 173hp की पावर और CVT ऑटोमैटिक वर्जन के साथ ऑल-व्हील ड्राइव पर यह 193hp की पावर और 243Nm का टॉर्क जनरेट करता है। 0 से 100 किमी की रफ्तार पकड़ने में इसे 9.3 सेकंड़ का वक्त लगता है। कार की टॉप स्पीड 200 kmph है।

भारतीय बाजार में होंडा की नई सीआर-वी का मुकाबला टोयोटा फॉर्च्यूनर, स्कोडा कोडिएक, फोर्ड एंडेवर और इसुजु एमयू-एक्स जैसी गाड़ियों से है।

Posted By: Ankit Dubey