नई दिल्ली, अंकित दुबे। Honda Cars India की आक्रामक रूप से पिछले एक वर्ष में बिक्री करीब आधी होती नजर आ रही है। इतना ही नहीं सूत्रों के मुताबिक Honda City और Honda Amaze जैसी पॉपुलर कारों को बनाने वाले कर्मचारियों को कंपनी ने जनवरी-फरवरी महीने में प्लांट में वॉलेंट्री रिटायरमेंट स्कीम की पेशकश की थी और अब कंपनी इसे अपने दूसरे कार्यालय सहयोगियों पर भी लागू कर रही है। पहले ऑटो सेक्टर में मंदी और फिर अब कोविड-19 महामारी के चलते कार निर्माता कंपनियों की हालत खस्ता हो रखी है। ऐसे में माना जा रहा है Honda लागतों पर लगाम लगाने के लिए अपने पुराने कर्मचारियों को स्वेच्छापूर्ण अवकाश ग्रहण योजना (Voluntary Retirement Scheme) की पेशकश की जा रही है।

Honda Cars India ने इसपर टिप्पणी करते हुए जागरण ऑटो से कहा, "हमने कार्यालय सहयोगियों के लिए एक वॉलेंट्री रिटायरमेंट स्कीम शुरू की है। इस योजना को सहयोगियों के लिए समग्र लाभ के साथ-साथ मौजूदा बाजार की मांग और उद्योग के पूर्वानुमान को देखते हुए परिचालन में दक्षता बढ़ाने में सक्षम होने के लिए एक जीत की स्थिति प्रदान करने के लिए बनाया गया है। यह वॉलेंट्री स्कीम उन सहयोगियों के लिए है जिन्होंने 40 वर्ष से अधिक आयु या 5 वर्ष की सेवा पूरी कर ली है। यह योजना न केवल वित्तीय और स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करती है, बल्कि सहयोगियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित HR फर्मों से एक सहज कैरियर संक्रमण के लिए भी सपोर्ट मिलेगा। यह योजना 24 जुलाई 2020 से खुली हैं और सभी कार्यों के लिए खोली गई हैं।"

हालांकि, Honda ने स्कीम के विशिष्ट विवरण साझा करने से इनकार कर दिया है, लेकिन कंपनी का कहना है कि उनके सहयोगियों के कल्याण को ध्यान में रखते हुए इस स्कीम को तैयार किया गया है। 

Posted By: Ankit Dubey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस