नई दिल्ली,ऑटो डेस्क। Goodyear : दुनिया की सबसे बड़ी टायर कंपनियों में से एक गुडइयर ने भारत में नई शुरुआत करते हुए ऑटोमोटिव लुब्रिकेंट्स सेगमेंट में एंट्री की है। बता दें, कंपनी ने बुधवार यानी आज देश में एश्योरेंस इंटरनेशनल के सहयोग से इंजन ऑयल की रेंज को लॉन्च किया है। यह इंजन ऑयल सभी प्रकार के वाहनों कमर्शियल, पैसेंजर और दोपहिया वाहनों के लिए उपलब्ध होंगे। वहीं इस रेंज में कंपनी ने ग्रीस, ब्रेक फ्लुइड, ट्रांसमिशन ऑयल, ट्रैक्टर ऑयल, डीजल फ्लुइड, गियर ऑयल और हाइड्रोलिक ऑयल की पेशकश की है।

कब से भारत में खरीद सकते हैं लोग : इंजन ऑयल की नई रेंज भारत में कुछ हिस्सों में नवंबर के शुरुआत में उपलब्ध होगी। गुडइयर इंडिया के कंट्री हेड सेल्स एंड मार्केटिंग संजय शर्मा ने बताया कि "कंपनी ने भारतीय बाजार में प्रवेश करने का फैसला किया है, क्योंकि भारत वैश्विक स्तर पर ऑटोमोटिव लुब्रिकेंट्स की खपत के मामले में टॉप तीन देशों की सूची में शामिल है। बताते चलें कि लुब्रिकेंट की खपत के मामले में वैश्विक स्तर पर सबसे पहले नंबर पर अमेरिका दूसरे नंबर पर चीन और तीसरे पर भारत मौजूद है।"

कैसे काम करता है इंजन ऑयल : इंजन ऑयल वाहनों के इंजन पाटर्स को लुब्रिकेंट करता है। वाहन को इस्तेमाल करने के दौरान इसके इंजन में गर्मी पैदा होती है, जिससे इंजन का तापमान बढ़ जाता है। ऐसी दशा में ऑयल इंजन के लुब्रिकेशन सर्किट से हीट को ट्रांसफर करने का काम करते हैं। फिलहाल भारत में तीन तरह का इंजन ऑयल Mineral, Semi synthetic और fully synthetic का इस्तेमाल किया जाता है। जिसमें Mineral का इस्तेमाल नए वाहन में किया जाता है। वहीं fully synthetic वाहन के इंजन की लंबी आयु के लिए इस्तेमाल होता है। बता दें, बाइक के लगभग 5 हजार किलामीटर पूरे होने वा उसमें fully synthetic का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। 

ग्राहकों को मिलेगी नई ऑयल की रेंज: गुडइयर दुनिया की सबसे बड़ी टायर कंपनियों में से एक है। यह लगभग 63,000 लोगों को रोजगार देती है और दुनिया भर के 21 देशों में 46 सुविधाओं में अपने उत्पादों का निर्माण करता है। कंपनी के वर्तमान में दो इनोवेशन सेंटर हैं। जिनमें पहला अक्रोन, ओहियो और दूसरा कोलमार लक्समबर्ग में है। इसके साथ ही एश्योरेंस इंटरनेशनल सत्यस समूह का हिस्सा है, जिसका आयरन एंड स्टील, शिक्षा और रियल एस्टेट में खूब नाम है। इस समझौते के तहत दोनों कंपनियां भारत में इंजन ऑयल की रेंज को नए नया मोड़ देना चाहती हैं।  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस