नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। हेलमेट हमारे लिए कितना जरूरी है शायद ही ये किसी को बताने की जरुरत है। नए मोटर व्हीकल्स एक्ट के लागू होने के बाद से हेलमेट न पहनने पर लोगों को 1000 रुपये का ट्रैफिक चालान भरना पड़ रहा है। हेलमेट की जरुरत का अंदाजा आप इस बात से भी लगा सकते हैं कि साल 2018 में 43,600 लोगों की मौत बिना हेलमेट पहनने के कारण हुई है। ऐसे में कई लोग ट्रैफिक पुलिस के डर से Helmet पहनते हैं, तो कई खुद को सुरक्षित रखने के लिए, लेकिन आज हम आपको उस आदमी के बारे में बताने जा रहे हैं, जो हेलमेट एक मजबूरी के कारण नहीं पहनता है।

इन दिनों सोशल मीडिया पर गुजरात के रहने वाले जाकीर मेमन की कहानी काफी वायरल हो रही है। इसका सबसे कारण उनका बिना हेलमेट बाइक चलाने के बावजूद ट्रैफिक फाइन से बचना है। दरअसल गुजरात के छोटा उदयपुर जिला में एक बोडेली नाम का गांव है, जहां जाकीर मेमन एक फल व्यापारी हैं। इनकी सबसे बड़ी परेशानी यह है कि इन्हें अपनी सिर के साइज का हेलमेट नहीं मिल रहा है। जाकीर का कहना है कि उनकी परेशानी ट्रैफिक जुर्माना नहीं बल्कि अपने सिर के साइज का हेलमेट है।

दरअसल जाकीर मेमन अपनी टू-व्हीलर पर बिना हेलमेट पहने यात्रा कर रहे थे कि तभी ट्रैफिक पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। जाकीर के पास ड्राइविंग लाइसेंस से लेकर गाड़ी के सारे कागज मौजूद थे, लेकिन हेलमेट उनके पास नहीं था। ऐसे में जब ट्रैफिक पुलिस की तरफ से उन्हें फाइन देने को कहा गया, तो उन्होंने अपनी परेशानी बताई।

जाकीर ने ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को बताया कि उनका सिर इतना बड़ा है कि उन्हें कोई हेलमेट फिट नहीं हो रहा है। दरअसल किसी भी हेलमेट के मुकाबले जाकीर का सिर काफी बड़ा है। उन्होंने बताया कि वो सभी दुकानों पर जाकर थक चुके हैं, लेकिन उन्हें अपनी सिर के साइज का हेलमेट नहीं मिला। ऐसे में उन्होंने पुलिसकर्मियों से मदद मांगी कि वो उनके साइज के हेलमेट को ढूंढने में मदद करें। जाकीर की बात सुनकर ट्रैफिक पुलिसकर्मियों के पास भी कोई जवाब नहीं था, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें बिना चालान काटे छोड़ दिया।

Posted By: Shridhar Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप