नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। चीन की दिग्गज इलेक्ट्रॉनिक कम्पनी Huawei Technologies ने साल 2025 तक ड्राइवरलेस पैसेंजर कार तकनीक विकसित करने का लक्ष्य लिया है। दुनियाभर में कई कंपनियां हैं जो ड्राइवरलेस कार तकनीक पर काम कर रही हैं लेकिन सही मायने में एक भी कंपनी ऐसी नहीं है जिसकी ड्राइवरलेस कार मार्केट में मौजूद हो, क्योंकि यह तकनीक अभी अपने शुरुआती चरण में है, ऐसे में इसे पूरी तरह से कारों में लाने में और उन्हें सड़कों पर उतारने में समय लगेगा। आपको बता दें कि हुआवे के इस लक्ष्य के बारे में कंपनी विकसित करना है। कंपनी के एक एग्जीक्यूटिव ने गुरुवार को कहा, क्योंकि दुनिया की सबसे बड़ी दूरसंचार उपकरण निर्माता कंपनी पर अमेरिकी प्रतिबंध लगा हुआ है इसलिए हुआवे को अपने बिजनेस में विविधता लानी पड़ रही है।

हुआवे की स्मार्ट वाहन इकाई के वरिष्ठ कार्यकारी वांग जून ने एक उद्योग सम्मेलन में कहा, "हमारी टीम का लक्ष्य 2025 में सच्ची चालक रहित यात्री कारों तक पहुंचना है।"

दर्जनों स्टार्टअप, वाहन निर्माता और बड़ी तकनीकी फर्म जैसे इंटरनेट सर्च लीडर Baidu इंक (9888.HK) सेल्फ-ड्राइविंग वाहन सिस्टम पर काम तेज कर रहे हैं, जिससे परिवहन उद्योग में एक बड़ा बदलाव आने की उम्मीद है।

अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण अपने वैश्विक स्मार्टफोन कारोबार को प्रभावित करने के बाद हुआवे ने स्मार्ट इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर रुख किया है। पिछली डोनाल्ड ट्रम्प सरकार ने Huawei Technologies कंपनी को अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा करार दिया था। हालांकि Huawei Technologies ने ट्रंप सरकार के इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया था।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप